आज संसद में ‘दुर्गा’ का दिखा रौद्र रूप

1
54

smriti-irani-01

संसद में दुर्गा अवतार में मानव संसाधन स्मृति ईरानी।

जेएनयू और रोहित बेमुला के मुद्दे पर मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने ऐसा हमला बोला जिससे बनी घाव वर्षों कांग्रेस सहलाती रहेगी

नई दिल्ली/रिपोर्ट4इंडिया। भारतीय वैदिक देवी में काली का रौद्र रूप माना जाता है लेकिन संसद में आज दुर्गा का रौद्र रूप दिखा। इस दुर्गा के रौद्र रूप से प्रकाश इतना फैला कि उसके चकाचौंध को कांग्रेस सहन नहीं कर पाई और हालत यह हुई कि बहस में प्रश्न पूछने का शुरुआत करने वाली कांग्रेस और उसके नेता उत्तर भी नहीं सुन पाए और संसद से मुंह चुराकर भाग गए।

दुर्गा की अवतार में दिखीं केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने रोहित बेमुला और जेएनयू मामले में सदन के पटल पर साक्ष्यों-प्रमाणों के साथ ऐसा हमला बोला कि उससे बनी घाव को कांग्रेस वर्षों तक सहलाती रहेगी।

संसद में स्मृति का बयान-

– हैदराबाद विवि की जिस काउंसिल ने ये निर्णय लिया था कि रोहित वेमुला को बर्खास्त किया जाए, उसे कांग्रेस ने अप्वाइंट किया था
– मैंने अपना काम किया, माफी नहीं मांगूंगी : स्मृति ईरानी
– रोहित वेमुला ने अपने पत्र में सुसाइड के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया  : स्मृति ईरानी
-देश को वह राजनीति बर्बादी की ओर ले जाएगी, जो छात्र के शव पर भी हो रही है : स्मृति ईरानी
-देश में बहने वाली हर नदी गंगा और हर कंकड़ शंकर है : स्मृति ईरानी

अंतिम में सवालों का जवाब देते हुए केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी काफी अक्रामक दिखीं। उन्होंने विपक्ष पर कड़े शब्दों का प्रयोग करते हुए अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि मंत्रालय के पास जिस भी समस्या की शिकायत आई, उसकी मदद की गई। जाति-धर्म पूछकर किसी की मदद नहीं की गई है। उन्होंने कांग्रेस सांसदों पर निशाना साधते हुए कहा कि आप लोगों की जवाब सुनने की इच्छा थी ही नहीं क्योंकि आपकी नीयत में खोट है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here