इरोम की जगह एक अन्य मणिपुरी महिला ने भूख हड़ताल बैठने का किया ऐलान

0
26

sharmila-erome-01ईरोम शर्मिला (फाइल)।

इंफाल। राज्य से सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफ्सपा) को हटाने की मांग कर रही इरोम शर्मिला ने लंबे साल के अपने संघर्ष के बाद अपना अनशन तो खत्म कर दिया, पर उनकी लड़ाई को एक अन्य महिला ने आगे ले जाने का संकल्प लिया है। मणिपुर की 32 वर्षीय एक महिला ने 13 अगस्त यानी शनिवार से अनिश्चत कालीन भूख हड़ताल पर बैठने का निश्चय किया है।

दो छोटी लड़कियों की मां अरामबाम रोबिता लेइमा ने कहा कि वह इंफाल पश्चिम जिले के एक सामुदायिक हॉल में शनिवार सुबह 10 बजे अपना अनशन शुरू करेंगी। उन्होंने कहा कि वह केवल ‘‘कठोर ’’ सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफ्सपा) को हटाने की ही नहीं बल्कि राज्य में इनर लाइन परमिट (आईएलपी) के क्रियान्वयन की भी मांग कर रही हैं।

रोबिता ने कहा कि वह इरोम शर्मिला का पूरा सम्मान करती हैं और अब अफ्सपा के खिलाफ उनकी लड़ाई को जारी रखना चाहती हैं।

हालांकि, कई महिला संगठनों ने नागरिक महिला संगठनों ने उनसे अनिश्चित कालीन हड़ताल नहीं करने का अनुरोध करते हुए अपनी दो बेटियों डायमंड (10) और तंफामणि (चार) के बारे में सोचने को कहा है। पर, रोबिता अपने फैसले पर कायम है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here