कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह से 5 घंटे पूछताछ

0
44
दिग्विजय सिंहदिग्विजय सिंह के शासनकाल 1993 से 2003 के बीच विधानसभा सचिवालय में नियम विरुद्ध हुई 17 नियुक्तियों का मामला

भोपाल। मध्य प्रदेश में दिग्विजय सिंह के मुख्यमंत्रीत्व काल में मप्र विधानसभा सचिवालय में नियुक्ति में हुई धांधली के मद्देनजर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह से लगभग पांच घंटे पूछताछ की। वहीं, इस मामले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया और पुलिस के साथ धक्का-मुक्की की।

बताया जाता है कि दिग्विजय सिंह के शासनकाल 1993 से 2003 के बीच विधानसभा सचिवालय में नियम विरुद्ध 17 नियुक्तियां हुई थीं। इस मामले में सचिवालय की शिकायत पर जहांगीराबाद थाने ने 28 फरवरी 2015 को मामला दर्ज कर तत्कालीन विधानसभाध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी सहित 22 लोगों को आरोपी बनाया गया था। मामले की जांच के लिए एसआईटी बनाई गई। एसआईटी 19 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र भी भोपाल न्यायालय में पेश कर चुकी है।

इसी मामले में एसआईटी ने दिग्विजय सिंह को नोटिस भेजकर बयान दर्ज कराने के लिए भोपाल बुलाया था। दिग्विजय सिंह बृहस्पतिवार को पुलिस नियंत्रण कक्ष पहुंचे। उनके साथ बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी थे।

एसआईटी प्रमुख और जहांगीराबाद क्षेत्र के नगर पुलिस अधीक्षक सलीम खान ने संवाददाताओं को बताया कि सिंह से कुल पांच घंटे तक पूछताछ चली। पूछताछ से निकले निष्कर्ष के आगे की कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here