जयललिता अब खतरे से बाहर : जेपी नड्डा

0
8

jaylalita-supportersचेन्नई में अस्पताल के बाहर जमा जयललिता समर्थक।

चेन्नई। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता को रविवार शाम दिल का दौरा पड़ा। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम उनकी सेहत की निगरानी कर रही है। अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों ने यह जानकारी दी। एआईएडीएमके प्रमुख 68 वर्षीय जयललिता को 22 सितंबर को बुखार और डिहाइड्रेशन की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती किया गया था। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा का कहना है कि जयललिता की हालत खतरे से बाहर है।

जेपी नड्डा ने कहा है कि वो अपोलो अस्पताल और तमिलनाडु सरकार से लगातार संपर्क में हैं। दिल्ली एम्स से एक टीम भी चेन्नई भेजी गई है।

अपोलो अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया, “जयललिता के स्वास्थ्य की निगरानी विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम कर रही है, जिसमें हृदयरोग विशेषज्ञ, फेफड़ा विशेषज्ञ और क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ शामिल हैं।” डॉक्टरों ने जांच के बाद बताया था कि उन्हें इंफेक्शन है, इसलिए उन्हें अस्पताल में कुछ दिन रहना होगा। इसके बाद उन्हें वेंटीलेटर का सहारा दिया गया था।

वहीं, जयललिता को दिल का दौरा पड़ने की ख़बर के बाद अस्पताल के बाहर उनके समर्थकों की भीड़ जुट गई। लोग अपनी नेता के जल्द स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। जयललिता का स्वास्थ्य अचानक फिर बिगड़ने की खबर पाकर राज्यपाल सी. विद्यासागर राव मुंबई के अपने सफर से लौट आए हैं।

हाल ही में अपोलो अस्पताल के चेयरमैन प्रताप सी. रेड्डी ने मीडिया से कहा था कि जयललिता की हालत बेहतर हो रही है और उनके सभी अंग काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा था कि अब उन्हें गहन चिकित्सा कक्ष से वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा था कि जयललिता अब ठीक हैं और जब चाहें घर जा सकती हैं। लेकिन एकाएक जयललिता को दिल के दौरा पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here