पकड़े गए उत्तराखंड जंगल में ‘आग लगाने वाले’

3
108

uttrakkand fire-01पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावेडकर ने कहा, जंगल में आग लगी नहीं लगाई गई, चार गिरफ्तार

prakash-javdekar-01नई दिल्ली। उत्तराखंड के पहाड़ पर 13 जिलों में आग का खौफ प्राकृतिक नहीं है। बल्कि इसे कुछ शातिरों ने अंजाम दिया है। जंगल में आग लगाने के मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यह जानकारी दी है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सबसे पहले तो आग नियंत्रण में आ गया है और शीघ्र ही इस पर काबू पा लिया जाएगा। उन्होंने साफ किया कि गर्म के चलते प्राकृतिक घटना नहीं है बल्कि जानबूझ कर लगाया गया। इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

जावड़ेकर ने सोमवार को कहा, “उत्तराखंड के पांच जिलों के 2270 हेक्टेयर में फैली आग गर्मी से नहीं बल्कि अपराधिक तत्वों द्वारा फैलाई गई है। आग पर काबू पाने की कोशिशें जारी है। स्थिति अब नियंत्रण में है। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तराखंड के जंगलों में फैली आग पर जल्द से जल्द काबू करने के लिए सभी संभव प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है।

rajnath-fire-ANI-01गृह मंत्री ने समस्या पर चिंता जताते हुए कहा कि मुझे बताया गया है कि स्थिति नियंत्रण में है। भारतीय वायुसेना, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) एवं स्थानीय प्रशासन राहत कार्य में जुटे हुए हैं। जमीनी स्तर पर हालात का जायजा लेने और स्थिति पर काबू पाने के लिए केंद्र सरकार के अधिकारियों के साथ इस समस्या पर चर्चाएं हो रही है। इसके साथ ही वह स्थानीय प्रशासन से लगातार संपर्क में है और उन्होंने इस बाबत राज्यपाल से भी बात की है।

वहीं, एसडीएम रजा अब्बास ने कहा कि धुएं के कारण दृश्यता बहुत कम है इसलिए वायुसेना को आग बुझाने के काम दिक्कतें आ रही हैं।

उल्लेखनीय है कि, आग उत्तराखंड के 13 जिलों सहित हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के जंगलों में भी फैल चुकी है। उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के जंगलों में फैली आग को बुझाने के लिए एनडीआरएफ, वायुसेना के हेलीकॉप्टर, हजारों फायर कर्मी और वन विभाग की टीमें जुटी हुई हैं।लगी हुई हैं।

 

3 COMMENTS

  1. rajanathji aap nam matr ke home minister ho . aap sant asharamji bapu ke bare chup kyo ho aaj bharat ki sarkar hinjda ho chuki hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here