बाहुबली मुख्तार अंसारी की पैरवी कांग्रेसी नेताओं व पूर्व मंत्रियों के एक ‘गुट’ ने किया

0
21

mukhtar-ansari-mayawati-01लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी की परोल की पैरवी कांग्रेस के दो बड़े नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल और सलमान खुर्शीद ने पैरवी किया। हालांकि, ये दोनों नेता वकील रहे हैं पर वे कांग्रेस के बड़े नेता भी हैं और पूर्व केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं। राजनीति में नैतिकता का यह एक बड़ा मामला है पर नेताओं को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। करोड़ों रुपए फीस लेकर कोर्ट लड़ने वाले इन नेताओं को कभी सामान्य आदमी व उनके हितों को लेकर केस लड़ते नहीं देखा गया। कपिल सिब्बल तो प्रिंट मीडिया के पत्रकारों के लिए लागू मजठिया वेतन वोर्ड की अनुशंसा का पालन नहीं करने को दैनिक जागरण व अन्य बड़े अखबार मालिकों की तरफ से कपिल सिब्बल पैरवी कर रहे हैं।

उल्लखनीय है कि चुनाव घोषणा के बाद मुख्तार अंसारी ने अपनी पार्टी कौमी एकता दल का बसपा में विलय कर लिया था। मुख्तार अंसारी मऊ से बसपा के उम्मीदवार हैं और चुनाव लड़ रहे हैं। हाईकोर्ट में मुख्तार अंसारी के परोल को लेकर केस चल रहा है। पहले, शिवपाल यादव ने अंसारी बंधुओं अफजाल अंसारी और मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का समाजवादी पार्टी में विलय करवाया था लेकिन अखिलेश ने इसका विरोध किया।

मुख्तार अंसारी पर साल 2005 में भाजपा के पूर्व विधायक कृष्णानंद राय की हत्या का केस है। इसी केस में सीबीआई की अदालत से उन्हें चुनाव में प्रचार करने के लिए 17 फरवरी से 4 मार्च तक परोल दी थी। लेकिन चुनाव आयोग परोल के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंच गया।

हाईकोर्ट ने 17 मार्च को ही अंसारी को मिली परोल पर रोक लगा दी। इसी रोक के खिलाफ अंसारी भी हाईकोर्ट पहुंचे जहां उनकी ओर से कपिल सिब्बल और सलमान खुर्शीद ने पैरवी की।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here