‘यलो पत्रकारिता’ का उदाहरण ‘ओवैसी-मोदी’ मुलाकात की खबर : एमजे अकबर

0
42
modi-owaisi bihar pollsभाजपा नेता एमजे अकबर ने कहा, हमारे खिलाफ विपक्ष की साजिश, अखबार के खिलाफ केस दायर करेंगे

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने आज इस खबर खण्डन किया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष अकबरुदीन औवेसी की कोई मुलाकात हुई है। पार्टी ने इस खबर छापने वाले अखबार के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है।

पार्टी नेता और राज्यसभा सांसद एमजे अकबर ने आज कहा कि यह पीत पत्रकारिता का साफ उदाहरण है। इससे साफ हो जाता है कि विपक्ष हमारे खिलाफ किस तरह की साजिश रच रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी कानूनी टीम मामले को देख रही है और जल्द ही अखबार के खिलाफ छवि खराब करने का केस दायर करेगी।

गौरतलब है कि एआईएमआईएम इतमनीन बिहार के सीमांचल से जुड़े क्षेत्रों में चुनाव लड़ने पर विचार कर रही है । विपक्ष mj akbarका आरोप है कि भाजपा एआईएमएम के साथ मिलकर मुस्लमानों के वोट बांटने की कोशिश कर रहे हैं। इसी पर एक अंग्रेजी दैनिक ने समाचार छापा था कि पिछले हफ्ते पार्टी के अध्यक्ष अकबरुद्दीन औवेसी और प्रधानमंत्री की मुलाकात हुई थी।

क्या है यलो या पीत पत्रकारिता।

ऐसी कोई खबर जो किसी के गलत उद्देश्यों को पूरा करता है। खबर लिखने में पत्रकार और सोर्स के बीच कोई डील हुई हो, या जिसमें पैसों का लेनदेन हुआ हो। पत्रकारिता के नियमों के विरूद्ध लिखी जाने बाली खबर को यलो पत्रकारिता या पीत पत्रकारिता कहा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here