रॉयल्टी जमा नहीं करने वाले ईट-भट्ठा संचालकों की अब खैर नहीं

0
105

bricks chimni (file)अवैध तरीके से ईंट-भट्ठा चलाने वाले करोड़ों रुपए राजस्व को लगा रहे चपत

सासाराम। जिले में रॉयल्टी जमा नहीं करने वाले ईंट-भट्ठा संचालकों की अब खैर नहीं होगी। वर्तमान में जिले में संचालित होने वाले 102 ईंट भट्ठों के संचालकों के विरूद्ध सार्टिफिकेट केस दायर किरने की प्रक्रिया में खनन विभाग जुट गई है। सहायक खनन निदेशक ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि अवैध तरीके से भट्ठा संचालित कर सरकार को करोड़ों की चपत लगाई जा रही है।

पिछले दिनों विभागीय मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में खनन कार्य की समीक्षा हुई। जिसके बाद अवैध ईंट-भट्ठा उद्योगों को बंद कर राजस्व बढ़ाने के लिए कई निर्देश सचिव ने दिया है। न आदेशों के आलोक में विभाग ने तेवर कड़े किए हैं। अवैध रूप से चलाए जा रहे ईंट-भट्ठों को चिन्हित कर डिफाल्टर घोषित किया जा चुका है। डिफाल्टरों पर जल्द ही नीलाम पत्र दायर किए जाएंगे। राजस्व नहीं जमा करने वाले 50 से अधिक ईंट-भट्ठा संचालकों के खिलाफ विभिन्न थानों में प्राथमिकी दर्ज कराई जा चुकी है। इन पर सार्टिफिकेट केस दर्ज करने के लिए विस्तृत प्रतिवेदन खनन आयुक्त हो सौंपा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here