शिवपाल गुट का अब ‘राजनीतिक ध्येय’ चुनाव में… ‘सनम’ को डुबाने की

0
38

akhilesh-shivpal-yadav-01अखिलेश-शिवपाल गुट का आमना-सामना ‘धर्म जंग’ की तरह,  चुनाव सिंबल ‘साइकिल’ पाने की दोनों तरफ से लड़ाई शुरू, मामला चुनाव आयोग के हाथ

लखनऊ/रिपोर्ट4इंडिया। वैसे तो चुनावी रण में सजी राजनीतिक बिसात पर शिवपाल गुट ‘हाथ मलते’ हुए  चाल पर नज़र बनाए हुए हैं। ‘मुलायम राजा’ ‘को शह और मात’ दे चुके अखिलेश ने अपने कदम आगे बढ़ा दिए हैं। उप्र विस चुनाव में हालात व समीकरण पहले के मुकाबले अब तेजी से बदल गए हैं। जाहिर है, अखिलेश से ‘खार’ खाया शिवपाल गुट के पल्ले अगर कुछ नहीं पड़ेगा तो वह उन्हें चुनाव में ‘सबक’ सिखाने को लेकर काम करेगा। अखिलेश गुट इसीलिए कांग्रेस के साथ जल्द चुनावी गठजोड़ को लेकर प्रयासरत है।

उप्र में सत्ता चला रही समाजवादी पार्टी के लिए राजनीति हालात ऐसे बन रहे हैं कि ‘शिवपाल गुट’ के हाथ से लगभग ‘बाज़ी’ निकल चुकी है। पर वह अखिलेश की जीत को बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे। जाहिर तौर पर अब शिवपाल गुट अखिलेश से ‘अगल’ चुनाव में अखिलेश को हराने उतरेगा। अब, दोनों गुटों के सामने एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा होना ‘धर्म जंग’ की तरह हो गया है। शिवपाल गुट ‘सपा’ को लेकर अब उतना उत्साहित नहीं है। कानूनी लड़ाई के आधार पर निर्णय में समय लगेगा। इसीलिए मुलायम ने 5 जनवरी को बुलाई राष्ट्रीय अधिवेशन स्थगित कर दिया है। मुलायम को पता चल गया है कि उनके अधिवेशन में ऐसा कुछ नहीं हो सकता था कि वे सपा ‘सुप्रीमो’ बचे रह जाते। बल्कि, अधिवेशन के बाद कानूनी लड़ाई में भी कमजोर पड़ते। दूसरी बात यह है कि बदले हालात में मुलायम को अभी कुछ समय चाहिए। फिलहाल तो वे ‘अधिवेशन में उपस्थित सदस्यों का कोरम भी पूरा करने में शक था। राजनीतिक उलट-पलट के वयोवृद्ध राजनीतिज्ञ मुलायम फिलहाल अपने पुत्र अखिलेश से ‘जंग’ हार चुके हैं।

राष्ट्रीय अधिवेशन स्थगित करने के बाद अब ‘साइकिल सिंबल’ को लेकर लड़ाई शुरू हो गई है। मामला चुनाव आयोग तक पहुंच गया है। जाहिर तौर पर सपा के भविष्य का फैसला चुनाव आयोग के हाथ में है।

 

कानूनी जानकारों की मानें तो किसी दल में विभाजन होने या अध्यक्ष पद पर विवाद होने पर निर्वाचन आयोग तय करता है कि असली पार्टी या अध्यक्ष कौन है। वहीं, अगर चुनाव तक इस विवाद का हल न निकला तो साइकिल चुनाव चिन्ह सीज भी हो सकता है। ऐसे में सपा को फ्री-सिंबल पर चुनाव लड़ना पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here