शिवसेना के हिन्दी मुखपत्र के कार्यकारी संपादक पद से प्रेम शुक्ला ने दिया इस्तीफा

0
60

prem shuklaभाजपा में हो सकते हैं शामिल, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से कहासुनी के बाद दिया इस्तीफा

मुंबई। शिवसेना के हिन्दी भाषा के मुखपत्र ‘दोपहर का सामना’ के कार्यकारी संपादक ने बृहस्पतिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। शिवसेना के मुखपत्र में शिवसेना की लाइन को फॉलो करने वाले शुक्ला ने संपादकीय से भाजपा और पीएम मोदी पर काफी हमला बोला था। हालांकि, पार्टीगत अखबार के पद पर रहकर पार्टी की नीतियों को फॉलो करना व्यवहारिक बात है। बताया जाता है कि प्रेम शुक्ला भाजपा में शामिल हो सकते हैं। यह भी समझा जा रहा है कि उनका शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से झगड़ा हुआ था, जिसके बाद उन्होंने इस्तीफा देने का फैसला किया।

शुक्ला ने बृहस्पतिवार को अपना इस्तीफा उद्धव को ईमेल किया, जो ‘प्रबोधन प्रकाशन’ के संपादक एवं मुख्य न्यासी हैं। यह दोपहर का सामना का प्रकाशन करता है।

‘निर्भय पथिक’ के साथ अपना करियर शुरू करने वाले शुक्ला 1993 में बतौर मुख्य संवाददाता ‘दोपहर का सामना’ से जुड़े थे और 1998 में इसे छोड़ दिया। उन्हें उद्धव ने 2005 में संपादक नियुक्त किया था। संजय निरूपम के छोड़ने के बाद उन्हें इस पद पर नियुक्त किया गया था।

सूत्र के मुताबिक शुक्ला की भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) रामलाल और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के साथ बातचीत भी हुई है जिसने उनके भाजपा में शामिल होने का मार्ग प्रशस्त किया।

प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया में विभिन्न मुद्दों पर शिवसेना का विचार रखने के लिए शुक्ला पार्टी का चेहरा थे। बाद में उन्हें उद्धव के इशारे पर टीवी परिचर्चाओं में भाग लेने से रोक दिया गया क्योंकि उनका मानना था कि शुक्ला का झुकाव भाजपा की ओर हो रहा है।
उल्लेखनीय है कि भाजपा और शिवसेना केंद्र तथा महाराष्ट्र सरकार, दोनों ही जगह सत्ता में साझेदार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here