सड़क बीच रोती हुई महिला को शिवराज ने गले लगा ढांढस बंधाया

0
38
shivraj-singh chauhan

shivraj-singh-01भोपाल में रोती हुई महिला को गले लगाकर ढांढस बंधाते सीएम शिवराज सिंह

भोपाल। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कभी कुंभ के दौरान खुद ही टेंट-कनात बांधने लग जाते हैं तो कई अन्य मौकों पर भी उनकी संवेदनशीलता दिखाई देती है। बुधवार को भी एक ऐसी ही घटना उस वक्त घटी जब भोपाल में शिवराज सिंह का काफिला बड़े तालाब के नजदीक से गुजर रहा था। इस दौरान एक बेघर दंपति अपना दुखड़ा सुनाने उनके रास्ते में बैठ गया। मुख्यमंत्री की नज़र पड़ी तो उन्होंने अपना काफिला रुकवाकर न सिर्फ पीड़ितों की बात सुनी बल्कि जिम्मेदार अधिकारियों को समस्या का निराकरण के निर्देश भी दिए।

बुधवार को दोपहर में सीएम शिवराज सिंह का काफिला करबला रोड से गुजर रहा था तभी बेघर दंपति अपनी परेशानी बताने के लिए सीएम के काफिले के सामने खड़े हो गये। उन्हें देखते ही सीएम ने गाड़ी रुकवाई और दोनों के पास जाकर उनकी परेशानी सुनी।

दोनों ने बताया कि वे हबीबगंज इलाके में झुग्गी में रहते थे। नगर निगम की अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई में उनकी झुग्गी भी हटा दी गयी जिसके बाद वे बेघर हो गये।

दोनों ने सीएम को यह भी बताया कि कैसे वो खुले आसमान के नीचे रात बिताते हैं और कैसे भीषण गर्मी में दोपहर काटते हैं। इस दौरान सीएम ने धैर्यपूर्वक उनकी समस्या सुनी और दोनों को गले लगाकर चिंता न करने की बात कही। सीएम ने तत्काल जिम्मेदार अधिकारियों को दंपति के रहने के इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही नगर निगम को ये निर्देश भी दिये हैं कि जब तक वैकल्पिक व्यवस्था न की जाए तब तक झुग्गी में रहने वाले लोगों के घर न उजाड़े जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here