हरियाणवी शक्ति : सांप के खून में नहीं प्राकृतिक भारतीय खाद्य पदार्थ में है दम

0
26

vijender-01भारतीय स्टार मुक्केबाज बिजेंदर ने हंगरी के बलबोले मुक्केबाज एलेक्जेंडर होरवाथ को चौथे रीउंड में भी हराया   

लीवरपुल (लंदन)। किसी भी प्रतियोगिता में जीत के लिए शक्ति और बुद्धि की जरूरत पड़ती है। सांप का खून पीने या फिर कोई टोटका करने से न तो शक्ति आती है और न ही ऐसा करना जीत के लिए जरूरी है। पर, भारतीय प्राकृतिक खानपान शक्ति भी देता है और बुद्धि भी, जिससे आपकी सफलता पक्की होती है। यह सिद्ध किया है हरियाणा के मुक्केबाज बिजेंदर सिंह ने। भारतीय मुक्केबाज से चौथे मुकाबले में भी ‘सांप का खून’ पीकर शक्ति अर्जित कर विंजेदर को हराने का दावा करने वाले मुक्केबाज की दलील थोथा साबित हुई और रिंग में भारतीय मुक्केबाज ने उन्हें धूल चटा दी।

विदित हो कि, प्रतियोगिता से पहले हेगरी के मुक्केबाज़ एलेक्जेंडर होरवाथ ने हाल ही में एक सनसनीखेज बयान देते हुए कहा था कि वे विजेंदर से मुकाबले के लिए सांप का खून पीकर अपनी तैयारी कर रहे हैं।

भारतीय मुक्केबाज विजेंद्र सिंह ने हंगरी के एलेक्जेंडर होरवाथ को धूल चटाते हुए प्रोफेशनल बॉक्सिंग में लगातार चौथी जीत दर्ज की। लिवरपुल में हुए इस मुक़ाबले में विजेंदर ने हंगरी के एलेक्जेंडर होरवाथ को नॉक आउट पंच के साथ तीसरे राउंड में ही चित्त कर दिया।

20 साल के हंगेरिसयन बॉक्सर एलेक्जेंडर होरवाथ का कहना था कि मैं किसी भी कीमत पर विजेंद्र को हराना चाहता हूं। उसे हराने के लिए मैं इन दिनों सांप का खून पीकर तैयारी कर रहा हूं।

वहीं, दूसरी ओर विजेंद्र सिंह ने कहा था कि मैंने भी हरियाणवी देसी घी खाया है। पहले राउंड में विजेंदर ने होरवाथ के खिलाफ संभल कर शुरुआत की। विजेंदर ने नजदीकी अंतर से पहला राउंड जीता, दूसरे राउंड में होरवाथ मनोवैज्ञानिक रूप से विजेंदर के सामने दबाव में दिखे और विजेंदर से दूर रहने की कोशिश की।

ओलम्पिक में कांस्य जीत चुके भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने पेशेवर मुक्केबाजी में अपनी जीत का अभियान जारी रखा है।

मैच के बाद विजेंदर ने कहा, ‘मैं नहीं जानता कि मुझे क्या हुआ। मुझे लगता है कि वह बहाना बनाकर बाहर निकलना चाहता था। इस साल में यह मेरे लिए अच्छी शुरूआत है। मैं एक और नॉकआउट मैच जीतकर खुश हूं।”

” मेरे ख्याल से भारत में इस वर्ष (11 जून को) होने वाले डब्ल्यूबीओ एशिया के खिताबी मुकाबले से पहले मेरे लिए यह शानदार शुरूआत है।”

विजेंदर का अगला मुकाबला दो अप्रैल को होगा। मैच किस स्थान पर होगा इसका निर्णय अभी होना बाकी है।

बिजेंदर को जीत की बधाई

स्टार भारतीय मुक्केबाज की जीत से भारतीय सहित  हरियाणा वासियों में उत्साह व खुशी है। लोग खुश है कि बिंजेदर ने ऐसे मुक्केबाज को हराया जो प्रतियोगिता से पहले बेसिर-पैर की बातें कर मनोवैज्ञानिक रूप से दबाव बनाना चाहता था। सभी ने कहा कि हरियाणा की खेल परंपरा शक्ति और बुद्धि से युक्त है। पारंपरिक भारतीयों खेलों में हरियाणा के खिलाड़ियों का कोई सानी नहीं है। मारुति उद्योग कामगार यूनियन के महासचिव कुलदीप जांघू ने बिजेंदर की जीत पर खुशी जाहिर की। अपनी ओर से शुभकामनाएं भी प्रेषित की हैं। उन्होंने कहा है कि देश और हरियाणा के लिए गौरव की बात है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here