‘पुलिस को चकमा देकर मंदसौर पीड़ितों से मिले कम्युनिस्ट नेता’

0
45
मंदसौर पहुंचे कम्युनिस्ट नेता
नीमच। मध्य प्रदेश पुलिस जहां कांग्रेसी नेताओं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और कांतिलाल भूरिया व हार्दिक पटेल को रोकने के उपक्रम में लगी थी, वहीं पुलिस को चकमा देकर कम्युनिस्ट पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल मंदसौर पहुंच गया। इसमें केरल से राज्यसभा सांसद सोम प्रसाद, पश्चिम बंगाल के पूर्व सांसद हन्नान मोलह के साथ किसान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष आमरा राम सहित 6 सदस्य मौजूद थे।
किसान सभा का यह प्रतिनिधिमंडल पहले बरखेड़ापंथ के मृतक किसान अभिषेक पाटीदार के घर पहुंचा और परिजनों से बातचीत की। इसके बाद नीमच जिले के नयाखेड़ा के किसान चैनराम पाटीदार के घर पहुंचे। जहां परिजनों से अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त की। यहां से यह डेलिगेशन नीमच पंहुचा और मीडिया से बातचीत की।
हालांकि, राजनीतिक रूप से देखें तो राज्य में शासन कर रही शिवराज सिंह चौहान की सरकार को कम्युनिस्ट पार्टी के प्रतिनिधिमंडल से उतना खतरा नहीं है जितना कि कांग्रेस से है। राज्य में कम्युनिस्ट पार्टी का कोई जनाधार नहीं है। न ही वह किसी प्रकार से बीजेपी सरकार को चुनौति दे सकती है। इसलिए, मप्र सरकार की प्राथमिकता कांग्रेस के नेताओं को रोकने पर केंद्रीत थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here