मेट्रो किराये में भारी वृद्धि मोदी सरकार की जनविरोधी नीति का चरमोत्कर्ष

0
27

पांच माह के अंदर में दो बार मेट्रो के किराए में भारी वृद्धि के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने बुधवार से सत्याग्रह का निर्णय लिया है। सभी मेट्रो स्टेशनों पर होगा सत्याग्रह। शहरी विकास मंत्रालय का भी होगा घेराव।

नई दिल्ली। पांच माह में दूसरी बार दिल्ली मेट्रो के किराये में वृद्धि के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने बुधवार से पूरे शहर में प्रदर्शन करने की घोषणा की। आप का आरोप लगाया कि किराये में वृद्धि का फैसला रेडियो कैब संचालकों को फायदा पहुंचाने के लिए किया गया है।
आम आदमी पार्टी की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली वाले के लिए महंगे दिन आ गए हैं। उन्होंने किराए में इजाफा मेट्रो को हो रहे नुकसान को कम करने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि अगर मेट्रो के किराये में वृद्धि की गई, तो इससे यात्रियों की संख्या पर सीधा असर होगा।
राय ने कहा कि उनकी पार्टी किराए बढ़ोतरी को तत्काल वापस लेने की मांग करती है। बुधवार से किराया बढ़ोतरी के खिलाफ सत्याग्रह करेगी। सभी मेट्रो स्टेशनों पर आप के कार्यकर्ता
गुरुवार को केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के कार्यालय निर्माण भवन का घेराव करेगी।
गोपाल राय ने कहा कि किराया बढ़ाने का मोदी सरकार का फैसला दुर्भाग्यपूर्ण और दुर्भावना से किया गया है। मंत्रालय कहते हैं कि मेट्रो को नुकसान हो रहा है, लेकिन यह सच नहीं है। ऐसा कैसे हुआ कि नुकसान पिछले एक साल से बढ़ने लगे।
उन्होंने कहा कि किराये में वृद्धि को रोकने की दिल्ली सरकार की भरसक कोशिशों के बावजूद केंद्र प्रस्तावित किराया वृद्धि से पीछे नहीं हटा। AAP सरकार की इन कोशिशों में संचालन खर्च बांटने की इच्छा जताना शामिल है। राय ने कहा कि मेट्रो के किराये में वृद्धि नुकसान की भरपाई करने के लिए नहीं की गयी, बल्कि यह लगता है कि इसका मुख्य उद्देश्य ओला और उबर (रेडियो कैब संचालक) को लाभ पहुंचाना है।
किराये में वृद्धि से दिल्ली की सड़कों पर और यातायात बढ़ेगा और प्रदूषण में वृद्धि होगी। दिल्ली सरकार के कड़े विरोध के बावजूद दिल्ली मेट्रो के किराए में इजाफा किया गया है। गोपाल राय ने कहा कि किराये में वृद्धि के बाद मेट्रो के मुकाबले ओला और उबर का किराया सस्ता होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here