‘आतं’किस्तानी से बात करने अफगानिस्तान का इनकार, मोदी से हुई बात

0
67
narendra-modi-ashraf-ghani

अफगानिस्तान के पीएम अशरफ गनी ने पाकिस्तान के पीएम अब्बासी का फोन काट दिया, बात करने से मना किया। भारतीय पीएम मोदी से बात की और पाक के आतंकी पनाहगाहों को समाप्त करने की जरूरत बताई

 

narendra-modi-ashraf-ghaniअफगानी राष्ट्रपति अशरफ गनी और पीएम मोदी (फाइल)।
काबुल। पिछले दिनों दो बम विस्फोटों से अफगानिस्तान की राजधानी काबूल लाल हो गई। इन आतंकी हमलों में 50 से ज्यादा लोग मारे गए जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए। अफगानिस्तान में इन बम विस्फोटों में सीधे पाकिस्तानी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के हाथ होने से राष्ट्रपति अशरफ गनी इतने खफा हैं कि उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री अब्बासी से फोन पर बात करने से मना कर दिया। इसी दौरान अशरफ गनी ने भारतीय प्रधानमंत्री मोदी से बात की और कहा कि पाक में पल रहे आंतिकयों को मार गिराने के लिए कुछ करना होगा।
बताया जाता है कि काबुल में आतंकी विस्फोटों पर दुख जताने को लेकर बुधवार 31 जनवरी को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने टेलीफोन पर बातचीत करने की कोशिश की लेकिन अफगानी प्रधानमंत्री अशरफ गनी ने बातचीत करने से इनकार कर दिया।
लेकिन, वहीं उन्होंने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गनी से फोन पर बात की। गनी ने ट्वीट कर कहा, “प्रधानमंत्री मोदी ने मानवता के दुश्मनों द्वारा नागरिकों की मूर्खतापूर्ण हत्याओं के प्रति अपनी संवेदना जताने के लिए फोन किया था।”
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा, मैंने पीएम मोदी से ‘हमारे पड़ोस’ में आतंकीं पनाहगाहों को समाप्त करने की जरूरत के संबंध में बातचीत की। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा ‘अफगानिस्तान का अच्छा दोस्त रहा है जो हमारे दुख और वेदना को साझा करता है।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here