आयु लंबी चाहिए तो भोजन में संतुलित रखें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा

0
59
Carbohydrate

बोस्टन स्थित हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में प्रोफेसर वाल्टर विलेट ने अपने रिसर्च में बताया है कि बहुत ज्यादा और बहुत कम कार्बोहाइड्रेट नुकसानदेह हो सकता है। 

Carbohydrate

रिपोर्ट4इंडिया हेल्थ डेस्क।

जीवन व स्वास्थ्य को लेकर लगातार नए रिसर्च होते रहते हैं। वैज्ञानिक लगातार जीवन के रहस्य को उजागर करने के लिए शोध कार्यों में लगे हुए हैं। हालिया एक शोध में पाया गया है कि लंबी आयु के लिए भोजन में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को कम करना होगा। रिसर्च में सामने आया है कि भोजन में जरूरत से कम या ज्यादा कार्बोहाइड्रेट लेने वालों को मौत का खतरा बना रहता है। शोध में पाया गया कि कार्बोहाइड्रेट में 40 फीसदी से कम या 70 फीसदी से ज्यादा ऊर्जा के सेवन से मौत का खतरा बढ़ जाता है। कार्बोहाइड्रेट के रूप में 50 से 55 फीसदी ऊर्जा ग्रहण करने वालों को मौत का खतरा कम रहता है।

बोस्टन स्थित हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में प्रोफेसर वाल्टर विलेट ने अपने रिसर्च में बताया है कि “इन नतीजों में एक साथ कई पहलू हैं, जो विवादास्पद रहे हैं। बहुत ज्यादा और बहुत कम कार्बोहाइड्रेट नुकसानदेह हो सकता है, लेकिन गौर करने वाली बात यह है वह वसा, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का प्रकार है।”

शोध के तहत 45 से 64 साल की आयु वर्ग के 15,428 वयस्कों को शामिल किया गया। प्रतिभागियों में पुरुष 600-420 किलो कैलोरी ऊर्जा रोज ग्रहण करते थे, जबकि महिलाएं 500-3600 किलो कैलोरी।

शोधकर्ताओं के आकलन के अनुसार, सीमित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की आयु आवश्यकता से कम कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में चार साल अधिक पाई गई, जबकि अधिक कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में एक साल अधिक थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here