petrol-01

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो। 

नई दिल्‍ली। तेल कीमतो में लगातार बढ़ोतरी से आम जनमानस को राहत देने के लिए केंद्र सरकार ने जहां एक्साइज ड्यूटी में कटौती की है वहीं राज्यों से कहा है कि वे भी अपने टेक्सों में कमी कर लोगों को राहत प्रदान करें। इसी बीच बीजेपी शासित फिलहाल चार राज्यों ने पेट्रोल व डीजल पर अलग-अलग ढाई रुपए प्रति लीटर की कमी की घोषणा कर दी है। यानी इन राज्यों में लोगों को डीजल व पेट्रोल पांच रुपए प्रति लीटर कम मिलेंगे। महाराष्ट्र सरकार ने भी कीमतों में कमी पर विचार की बात कही है।

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह, झारखंड के सीएम रघुवर दास तथा त्रिपुरा के सीएम  ने कहा कि गुजरात भी पेट्रोल और डीजल दोनों की कीमतों में 2.50 रुपये की कटौती करने की घोषणा की है। इन राज्यों में आधी रात बाद पेट्रोल और डीजल 5 रुपये सस्ता हो जाएगा।

इससे पहले केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेट्रोल और डीजल की कीमत को 2.50 रुपये प्रति लीटर कम किए जाने की घोषणा की और राज्यों से आग्रह किया कि वे भी कीमतों में ढाई रुपए प्रति लीटर की कमी करें।

वित्त मंत्री ने इस संबंध में प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘केंद्रीय एक्साइज ड्यूटी में प्रति लीटर 1.50 रुपये की कटौती की जाएगी। इसके अलावा तेल कंपनियां प्रति लीटर एक रुपये की कटौती करेंगी। इस तरह पेट्रोल और डीजल पर प्रति लीटर 2.50 रुपये प्रति लीटर की कमी की जाएगी।’ उन्होंने कहा, केंद्रीय एक्साइज में कटौती से सरकार के राजस्व पर 10,500 करोड़ रुपये का भार पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि पेट्रोल और डीजल पर वैट राज्य सरकारों के खाते में जाता है जबकि एक्साइज ड्यूटी केंद्र सरकार के खाते में।

उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें बढ़कर 86 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गई है। इसके साथ ही, डॉलर भी अपने सर्वोच्च कीमत 73.70 रुपए पर है जिससे तेल कीमतों में इजाफा हुआ है।