लॉकडाउन तोड़ लुधियाना से 76 प्रवासियों को गोरखपुर-बिहार ले जा रहा था कैंटर चालक

0
165
कैंटर सहित गिरफ्तार कैंटर चालक दल के सदस्य।

बड़ी संख्या में महिलाएं व बच्चे भी शामिल, किराए के रूप में वसूले गए थे 2 लाख 31 हजार रुपए। बीच रास्ते में डरा-धमकाकर भी उगाही के आरोप  

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ गुरुग्राम।

कैंटर में 76 लोगों को भरकर लुधियाना से उत्तर-प्रदेश के गोरखपुर व बिहार ले जा रहे ड्राइवर सहित चालक दल के तीन को फर्रुखनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ये आवश्यक सामग्री ढुलाई पास कैंटर के शीशे पर चिपका कर चोरी-छुपे लोगों को ले जा रहे थे। सवाल लोगों ने बताया कि कि उनसे प्रति सवारी पहले दो हजार रुपए और कैंटर में सवार हो जाने के बाद रास्ते में जोर-जबरदस्ती व धमकाकर प्रति व्यक्ति एक-एक हजार अतिरिक्त कुल दो लाख 31 हजार रुपए वसूले गए।

पुलिस ने इस मामले में लॉकडाऊन नियमों की उल्लघंन करने के आरोप में कैंटर चालक गुरुचरण सिंह, उसके साथी गुरुसेवक सिंह व हरविन्द्र सिंह को 22 अप्रैल की रात केएमपी पर गुरुग्राम-झज्जर सीमा स्थित नाके पर पकड़ा।

नाके पर पुलिस को कुण्डली की तरफ से एक कैंटर आता दिखाई दिया। पुलिस ने बैटरी लाईट दिखाकर कैंटर को रोकने का ईशारा किया। नाके से कुछ दूर पहले ही पुलिस पार्टी को देखकर चालक ने कैंटर को रोक दिया और अपने साथियों के साथ उतरकर फरार हो गया। इस दौरान कैंटर की जांच की गई तो कुल 76 महिला-पुरुष व बच्चे बैठे मिले। इन सभी ने पूछताछ में बताया कि कैंटर चालक गुरुचरण सिंह व उसके साथी गुरुसेवक व हरविन्द्र सिंह ने उन्हें जीवननगर लुधियाना पंजाब से गोरखपुर व महाराजगंज सहित बिहार के बार्डर पर छोडने के लिए प्रत्येक व्यक्ति से दो –दो हजार रुपए लिए। बाद में रास्ते में गाड़ी रोक भय दिखाकर व दबाव बनाकर जबरदस्ती एक-एक हजार रुपए और ले लिए।

बाद में फरार हुए आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और उनपर कोरोना वायरस फैलाने व आम लोगों के स्वास्थ्य को खतरे में डाल सरकारी आदेशों की अवहेलना के साथ ही जबरदस्ती वसूली का केस पंजीकृत कर गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here