गुरुग्राम निजी एंबुलेंस ऑपरेटरों की सरकारी प्रस्ताव पर आपत्ति, मुफ्त सेवा देने का निर्णय

2
465
गुरुग्राम प्राइवेट एंबुलेंस वेलफेयर एसोसिएशन मेंबर।

कोविड 19 के बढ़ते केस व गर्भवती महिलाओं को सरकारी अस्पताल लाने ले जाने को प्राइवेट एंबुलेंस संचालकों का लागत से भी कम राशि देने के स्वास्थ्य विभाग के प्रस्ताव का विरोध। प्राइवेट एंबुलेंस वेलफेयर एसोसिएशन गुरुग्राम ने कहा, संकटकाल में हम निशुल्क एंबुलेंस सेवा उपलब्ध कराएंगे।

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ गुरुग्राम।

कोरोना के इस महाविपदा में जहां समस्त आर्थिक गतिविधियां ठप है और लोग भारी आर्थिक परेशानी झेलने को विवश हैं। वहीं, अति आवश्यक सेवा से जुड़े प्राइवेट एंबुलेंस वेलफेयर एसोसिएशन गुरुग्राम ने निस्वार्थ सेवाभाव का बेहतरीन उदाहरण प्रस्तुत किया है।

विपिन कुमार जायसवाल, प्राइवेट एंबुलेंस वेलफेयर एसोसिएशन गुरुग्राम अध्यक्ष।

सरकार की नीति के मुताबिक प्रेग्नेंट महिलाओं को घर से अस्पताल और डिस्चार्ज पर घर छोड़ने के लिए निशुल्क एंबुलेंस सेवा प्रदान करती है। कोविड-19 के बढ़ते केस को लेकर एंबुलेंस सेवा पर भारी दबाव है। इससे निपटने के लिए गुरुग्राम सिविल सर्जन ने निजी एंबुलेंस ऑपरेटरों को 24 घंटे 5 एंबुलेंस प्रदान करने के लिए बेसिक लाइफ सपोर्ट (एएलएस) के साथ 7 रुपए प्रति किलोमीटर तथा एडवांस लाइफ सपोर्ट (एएलएस) सिस्टम के साथ 15 रुपए प्रति किलोमीटर भुगतान करने को लेकर पत्र जारी किया है। स्वास्थ्य विभाग के इस रेट पर निजी एंबुलेस ऑपरेटरों ने बैठक कर नाराजगी के साथ ही क्षुब्धता जताई है।

इस मुद्दे पर प्राइवेट एंबुलेंस वेलफेयर एसोसिएशन गुरुग्राम के अध्यक्ष विपिन कुमार जायसवाल की अध्यक्षता में सदस्यों की हुई बैठक में विचार किया गया। कोरोना के महामारी में ठप आर्थिक गतिविधियों के बाद भी निजी एंबुलेंस ऑपरेटरों ने तय किया कि मानवता के नाते इस अति-आवश्यक स्वास्थ्य सेवा को वे किसी भी प्रकार से बंद नहीं कर सकते। परंतु, वे सरकार उपरोक्त भुगतान लेकर अपनी विवशता व लाचारी का प्रदर्शन भी नहीं कर सकते। विपिन जायसवाल ने कहा कि बीएलएस का साथ एंबुलेंस सेवा का मिनिमम खर्च 13 से 15 रुपए प्रति किमी है जबकि एडवांस लाइफ सपोर्ट के साथ म से कम 60 रुपए प्रति किमी खर्च पड़ता है जिसमें डॉक्टर का भी खर्च है। इस स्थिति में 7 रुपए व 15 रुपए प्रति किमी के भुगतान का कोई मायने नहीं है।

सभी प्राइवेट एंबुलेंस ऑपरेटर सदस्यों ने इस स्वर में कहा कि या तो सरकार पूरा खर्च दे या फिर हम मानवता और निस्वार्थ सेवाभाव को ध्यान में रखते हुए निशुल्क एंबुलेंस सेवा उपलब्ध करेंगे।

बैठक में निर्णय लिया गया कि 24 घंटे के लिए दो एंबुलेंस इस महामारी के दौरान व प्रेग्नेंट महिलाओंराम व अन्य अनिवार्य सेवा के लिए सरकार को उपलब्ध कराएंगे।

बैठक में प्राइवेट एंबुलेंस वेलफेयर एसोसिएशन गुरुग्राम के सदस्य सुरेंद्र तंवर, सलीना मैकनाइट, संदीप माथुर, राजेश यादव, डॉ. अजय, डॉ. कथुरिया, डॉ. मनोज, शैलेंद्र अग्रवाल, सुरेंद्र चौधरी, राजमुनि सोलंकी, योगेंद्र, राकेश, विनोज, इंद्रजीत, कृष्ण कुमार, परशुराम सिंह, आनंद तंवर, नीरज शर्मा, संजय पंचाल, नीरज, विजय, हरीश आदि उपस्थित थे।

2 COMMENTS

  1. I have been browsing online more than 3 hours today, yet I never found any interesting article like yours.
    It is pretty worth enough for me. In my view, if all site owners
    and bloggers made good content as you did, the net will be a lot more useful than ever before.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here