एग्जिट पोल से डगमग विपक्ष का EVM पर निशाना, आयोग ने आरोप खारिज़ किए

0
67
evm-vvpat

चुनाव बाद एक्जिट पोल के संकेत से मोदी विरोधी विपक्षी दलों की नींद उड़ गई है। अब उनका रूख चुनाव आयोग की तरफ हो गया है। कई प्रकार के अनर्गल आरोप लगाए जा रहे हैं। यहां तक की कांग्रेस के नेता यह बताने लगे हैं  कि मप्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विस चुनाव साजिश के तहत कांग्रेस को जिताया गया ताकि लोकसभा चुनाव में ईवीएम पर अंगुली न उठाई जा सके। कांग्रेस नेताओं का यह बयान उनकी हताशा और मानसिक दिवालियापन का प्रतीक है।

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल ने मोदी को एकबार फिर से सत्ता के दरवाजे तक ले जाने की दस्तक क्या दी, विपक्ष पागलपन की स्थिति में पहुंच गया है। संभावित करारी हार को देखते हुए विपक्ष ईवीएम और चुनाव आयोग की तरफ निशाना साधने लगा है। हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने की कार्रवाई शुरू हो गई है।

उधर, विपक्ष के ईवीएम पर सवाल को चुनाव आयोग ने सीरे से खारिज़ कर दिया है। आयोग ने कहा, विपक्ष के सारे आरोप गलत हैं।

opposition leader

सुप्रीम कोर्ट से फटकार के बाद भी मंगलवार को विपक्षी दलों ने वीवीपैट से 50 फीसद वोटों के मिलान के सवाल को लेकर चुनाव आयोग से मिलने की तैयारी की है। विपक्ष की मांग है कि यदि किसी भी मतदान केंद्र पर गड़बड़ी पाई जाती है तो समूचे विधानसभा क्षेत्र में ईवीएम के साथ वीवीपैट का मिलान होना चाहिए।

उधर, आयोग ने विपक्ष के सभी आरोपों के आधार कहा है कि हर काउंटिंग सेंटर पर ईवीएम और VVPAT को राजनीतिक दलों के सामने वीडियोग्राफी कर सुरक्षित रखा गया है। जिस जगह पर ये सभी हैं, वहां पर सीसीटीवी कैमरे की भी व्यवस्था है। सुरक्षा में CPAF की तैनाती है। प्रत्याशियों को भी स्ट्रॉन्ग रूम में जाने की अनुमति दी गई है। ऐसे में किसी तरह का गलत आरोप लगाना निराधार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here