पश्चिम बंगाल में ईमामों के गले नहीं उतर रहा दुर्गा पंडालों को अनुदान

0
26
mamta-benergee

ममता सरकार के खिलाफ राजधानी में किया प्रदर्शन, ईमामों को मिल रही मानदेय में बढ़ोतरी की मांग  

mamta-benergee

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

पंडाल में स्थापित मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति। (फाइल)।

कोलकाता। जिस धर्म की राजनीति को सीएम ममता बनर्जी ने सत्ता प्राप्ति का जरिया बनाया था अब लगता है वहीं गले पड़ने लगा है। राज्य में बीजेपी के बढ़ते प्रभाव व मुसलिम तुष्टिकरण का खामियाजा भुगतने की डर से ममता बनर्जी सरकार ने आसन्न दुर्गा पूजा में बनने वाले भव्य पंडालों पर सरकार की तरफ से 28 करोड़ रुपए का अनुदान देने की घोषणा का वहां के ईमामों ने विरोध करना शुरू कर दिया है। ये वहीं ईमाम हैं, जो निजी तौर पर अपने धार्मिक कार्यों में रत हैं फिर भी ममता सरकार ने उन्हें मानदेय देकर बड़े फलक पर मुसलिम तुष्टिकरण का परिचय दिया था।

दुर्गा पंडालों को 28 करोड़ रुपये के अनुदान देने की घोषणा का बुधवार को कोलकाता में ईमामों ने विरोध किया और रैली निकाली। इस दौरान ऑल इंडिया यूथ माइनॉरिटी फोरम के मोहम्मद कम्रुज्ज़मान ने कहा कि ममता सरकार ने दुर्गा पंडालों को 28 करोड़ रुपये का अनुदान दिया है उसी तरह इमाम और मुअज्जिनों के स्टायपेंड भी बढ़ाया जाए।

मोहम्मद कम्रुज्ज़मान ने कहा ममता सरकार बीजेपी के लाइन पर चल रही है। उन्होंने कहा कि दुर्गा पंडालों को पैसा देने से पहले उनके स्टायपेंड 2500 से बढ़ाकर 5 हजार रुपये किया जाए। कहा जाता है कि ‘ऑल इंडिया यूथ माइनॉरिटी फोरम’ तृणमूल कांग्रेस का करीबी संगठन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here