पाक के सार्क आयोजन की राजनीति पर भारत ने फेरा पानी

0
82
saarc logo

विेदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने साफ किया कि पाकिस्तान में सार्क के आयोजन में भारत नहीं लेगा हिस्सा। इससे इमरान खान का सार्क सम्मेलन के पीछे की राजनीति की हवा निकल गई। भारत के इस कदम से अब कोई भी सार्क देश पाकिस्तान में भाग नहीं ले सकेगा।    

saarc logo

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो। 

नई दिल्ली। पाकिस्तानी आर्मी के साये में वहां के प्रधानमंत्री बने इमरान खान की सार्क डिप्लोमेसी का भारत ने हवा निकाल दी। भारत ने साफ किया है कि पाकिस्तान जब तक भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधियां बंद नहीं करता, तब तक उसके साथ संबंधों की कोई पहल स्वीकार्य नहीं होगी। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सार्क सम्मेलन आयोजित करने की पाकिस्तान की राजनीति को कुचलते हुए कहा कि भारत इसमें हिस्सा नहीं लेगा।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने कहा था कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) शिखर सम्मेलन में आमंत्रित करेगा। इस पर भारत सरकार ने साफ किया है कि वह इस सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेगा।

इसके साथ ही, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यह भी स्पष्ट किया कि करतारपुर गलियारे पर हुई पहल का पाकिस्तान के साथ वार्ता प्रक्रिया से कोई लेना-देना नहीं है। स्वराज ने कहा, ‘वह आमंत्रण पहले ही दिया जा चुका है लेकिन हम उसका सकारात्मक जवाब नहीं दे रहे हैं। क्योंकि जैसा कि मैंने कहा, जब तक पाकिस्तान भारत में आतंकवादी गतिविधियां बंद नहीं करेगा तब तक उससे कोई बातचीत नहीं होगी और हम सार्क में शामिल नहीं होंगे।’

सुषमा स्वराज ने कहा, भारत इस गलियारे की लंबे समय से मांग करता रहा है, जिससे कि भारतीय सिख श्रद्धालु बिना वीजा के करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब तक आ-जा सकें। उन्होंने कहा,‘लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि द्विपक्षीय वार्ता केवल इसी कदम से शुरू हो जाएगी। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने मंगलवार को कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी को सार्क के लिए आमंत्रित किया जाएगा.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here