बिहार-उप्र के प्रवासियों को लेकर फिर बोले कमलनाथ

0
58
kamalnath-congress

मध्य प्रदेश के नये नवेले सीएम कमलनाथ ने कहा था, यूपी-बिहार के लोग नौकरियां ले जाते हैं। एमपी में स्थानीय लोगों को वरीयता मिलनी चाहिए। 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ [फोटो-इंडिया टुडे आर्काइव]मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ। 

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली।  मध्य प्रदेश के  नये नवेले सीएम बने कमलनाथ के रोजगार के मसले पर बिहार व उत्तर प्रदेश के लोगों पर बयान की भले ही आलोचना हो लेकिन लगता है कि इसे ही कमलनाथ ने चुुनाव का मुद्दा बना लिया है। कमलनाथ ने एकबार फिर कहा कि उन्होंने कोई गलत नहीं कहा है। यूपी-बिहार के प्रवासियों की वजह से मध्य प्रदेश में स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं मिल पाता है। उन्होंने कहा, यह सब जगह है, दूसरे राज्यों में भी है, मैंने कोई नई बात नहीं की। स्थानीय लोगों को वरीयता मिलनी चाहिए।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कमलनाथ ने कहा था कि मध्य प्रदेश में सिर्फ उन उद्योग धंधों और कंपनियों को इन्सेंटिव मिलेगा जो 70 फीसदी स्थानीय लोगों को रोजगार देंगी। उन्होंने कहा  था कि यूपी-बिहार के लोग नौकरियों पर कब्जा कर लेते हैं जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं मिलता।

कमलनाथ के इस बयान की कई नेताओं ने आलोचना की। भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कमलनाथ जो बात कह रहे हैं उसका प्रवधान पहले से है। बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि अगर यही बात उनपर भी लागू हुई तो कानपुर में जन्मे कमलनाथ  को परेशान हो जाएगी। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव और राष्ट्रीय जनता दल ने भी कमलनाथ के इस बयान पर विरोध दर्ज कराया था।

आलोचना के बीच कमलनाथ ने बयान जारी कर पनी बात पर कायम रहते हुए कहा कि यूपी-बिहार के प्रवासियों पर मैंने कोई गलत नहीं कहा। यह तो हर जगह है, दूसरे राज्यों में भी है। स्थानीय लोगों को वरीयता मिलनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here