कश्मीर में सेना पर पत्थरबाज़ी इस बार भारी पड़ गया, 8 आतंक समर्थकों की मौत

0
59
indian-army-in-kashmir

जम्मू-कश्मीर में सेना ने हिज्बुल के कमांडर और उसके दो साथियों को मुठभेड़ के दौरान घेरा तो आतंक समर्थकों ने सेना पर पत्थरबाज़ी और वाहनों को निशाना बनाना शुरू किया, चेतावनी के बाद भी आतंक का साथ देना महंगा पड़ गया

indian-army-in-kashmir

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

जम्मू। कश्मीर में आतंक समर्थकों को इस बार सेना को निशाना बनाना महंगा पड़ गया। शनिवार सुबह पुलवामा के गांव खारपुरा में सुरक्षाबलों ने हिज्बुल के कंमाडर और उसके दो साथियों को घेर लिया। परंतु, उसे सेना के घेरे से सुरक्षित बचाने के लिए स्थानीय आतंक समर्थकों ने सेना पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। साथ ही, सेना के वाहनों पर भी कब्जा करने की कोशिश करने लगे। चेतावनी को नज़रंदाज करने के बाद ने सेना ने गोली चलाई जिसमें 8 आतंक समर्थकों की मौत हो गई।

हालांकि, भारी अवरोधों के बावजूद सेना ने हिज्बुल कमांडर जहूर ठोकर और उसके दो साथियों के साथ मार गिराया। ठोकर खारपुरा का ही रहने वाला था। फिलहाल, कश्मीर में इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जैसे ही ठोकर के मुठभेड़ में फंसे होने की खबर फैली, उसे बचाने के लिए लोग जुटने शुरू हो गए। तीन आतंकवादियों के मारे जाने के साथ ही मुठभेड 25 मिनट में खत्म हो गई, परंतु, सुरक्षाबल तब मुश्किल में पड़ गए जब आतंक समर्थक सेना के वाहनों पर चढ़ना शुरू कर दिया। चेतावनी के लिए पहले हवा में गोलियां चलाई गईं लेकिन उससे भी उग्र भीड़ रुकी नहीं। इसके सुरक्षाबलों को गोली चलानी पड़ी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here