मोदी ‘सरकार’ है जी! …CBI निदेशक पद से मुअत्तल हुए  आलोक वर्मा 

0
73
alok-verma-cbi-director

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सेलेक्शन कमेटी ने लिया फैसला। शीर्ष न्यायालय ने आलोक वर्मा को उनके पद पर बहाल कर दिया था। उन्हें सरकार ने करीब दो महीने पहले जबरन छुट्टी पर भेज दिया था। 

alok-verma-cbi-director

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली। दो दिन पहले सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीबीआई निदेशक पद पर ज्वाइन करने वाले आलोक वर्मा को एकबार फिर से पद से हटा दिया गया। केंद्र सरकार ने इस बार सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सलेक्ट कमेटी के फैसले से यह कार्रवाई की। पीएम नरेंद्र मोदी के घर पर हुई सलेक्शन कमेटी की बैठक में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और न्यायमूर्ति एके सीकरी भी मोजूद थे। न्यायमूर्ति सीकरी प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की तरफ से बैठक में उपस्थित हुए थे।

बृहस्पतिवार को सलेक्ट कमेटी ने आलोक वर्मा को 2-1 के बहुमत से पद से हटाने का फैसला किया। लोकसभा में विपक्ष के नेता कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे ने आलोक वर्मा को हटाने के फैसले का विरोध में वोट दिया। जबकि पीएम मोदी और जस्टिस सीकरी वर्मा को हटाने के पक्ष में वोट दिया।

उल्लेखनीय है कि सीवीसी की रिपोर्ट में आलोक वर्मा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे।

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को आलोक वर्मा को उनके पद पर बहाल कर दिया था। हालांकि वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर सीवीसी की जांच पूरी होने तक उन पर कोई भी महत्वपूर्ण नीतिगत निर्णय लेने पर रोक लगा दी थी। पद पर बैठते ही आलोक वर्मा ने एक्टिंग निदेशक एम. नागेश्वर राव द्वारा किए गए तबादलों को पटल दिया था।

उधर, शीर्ष कोर्ट ने सीबीआई की गरिमा के मुताबिक मामले को सलेक्ट कमेटी में भेजे जाने को कहा था। केंद्र सरकार ने करीब दो महीने पहले निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के एक-दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जाने के बाद सीबीसी की रिपोर्ट पर दोनों को जबरन छुट्टी पर भेज दिया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here