‘आजतक’ का कुछ ‘हद तक’ …रोहित सरदाना को ‘भुलाना’ 

0
1092
आजतक पर आज की दंगल को 'रोहित सरदाना के नाम' प्रस्तुत करतीं एंकर अंजना ओम कश्यप। (सौजन्य- आजतक वीडियो फोटो स्नैप)

“…परंतु, खासकर मीडिया से जुड़े लोगों और स्वयं मेरा भी यह अनुभव व तकलीफ रही है कि विकट परिस्थितियों में अपने ही पत्रकारों से न्यूज़ संस्थान मुंह मोड़ लेने का भरपूर उद्यम करते हैं।”

मनोज कुमार तिवारी/ report4india/ New delhi.

आज खासकर सोशल मीडिया में लाखों लोगों के बीच तेज़ चर्चा है कि अपने को ‘सबसे तेज’ का टैग दने वाला न्यूज़ चैनल ‘आजतक’ ने प्रसिद्ध राष्ट्रवादी पत्रकार रोहित सरदाना के निधन की खबर को करीब तीन घंटे तक दबाकर रखा। हजारों लोग इस खबर की पुष्टि के लिए आजतक खोलकर देखते रहे और तबतक उनका मन यह मानने के लिए तैयार नहीं हो रहा था। इस खबर की पुष्टि अन्य दूसरे न्यूज़ चैनल व खासकर सोशल मीडिया पर रोहित के निधन की बाढ़-सी खबर दुनिया में गूंजने लगी थी। खबर की पुष्टि के बाद खासकर ‘आजतक’ के प्रति लोगों में बेहद नाराजगी जताई जाने लगी।

दोपहर दो बजे ‘आजतक’ पर भी रोहित के निधन की खबर तैरने लगी। स्व. रोहित सरदाना के साथी एंकरों की नम आंखें व रुंधे गले से आजतक का स्टूडियो ‘कांपने’ लगा। अंजना ओम कश्यप, चित्रा त्रिपाठी, सइद अनवर, श्वेता सिंह आदि की रोने की लाइव देश ने देखा। हालांकि, इसके आगे मैं कुछ लिखूं करीब पांच बजकर 20 मिनट पर दंगल के समय पर एंकर अंजना ओम कश्यप ने इस खबर के प्रसारण नहीं किए जाने पर अपना पक्ष रखा। अंजना ने कहा कि उनके निधन की सूचना के बाद खबर को चैनल ने उनके परिवार व उनके छोटे बच्चों की मनोस्थिति को ध्यान में रखकर तुरंत प्रसारित नहीं किया। हालांकि, उन्होंने कहा फोन पर ‘संस्था’ की तरफ से व साथी पत्रकारों की तरफ से परिवार से संपर्क साधा गया। संवेदनशीलता रखते हुए उनके निधन संबंधी बातों व तथ्यों को अहमियत दी गई। खासकर, रोहित की छोटी बेटियों की मनोदशा को ध्यान रखना हमारे लिए अत्यंत आवश्यक था।

जब मैं यह खबर लिख रहा था तभी लाइव अंजना ओम कश्यप ने अपना पक्ष रखा। जाहिरतौर पर, इस पक्ष ने इस खबर को लिखे जाने के बीच एक ‘मोड़’ दे दिया। परंतु, खासकर मीडिया से जुड़े लोगों और स्वयं मेरा भी अनुभव व तकलीफ रही है व यह सर्वथा सत्य भी है कि विकट परिस्थितियों में अपने ही पत्रकारों से न्यूज़ संस्थान मुंह मोड़ लेने को भरपूर उद्यम करते हैं। इस कारण भी सार्वजनिक तौर पर आजतक द्वारा इस खबर की पुष्टि में देरी से कई सवाल खड़े हुए और सोशल मीडिया में इसपर चर्चा होती रही।