अयोध्या में प्रशासन ने कमर कसी, ‘बयानवीरों’ की बयानबाज़ी भी बढ़ी

0
75

अयोध्या मामले पर हलचल के बीच योगी सरकार का बड़ा फैसला, अधिकारियों की छुट्टियां रद्द

अयोध्या को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने नया आदेश जारी किया, अधिकारी अपने मुख्यालय पर ही बने रहेंगे। दीपावली पर सरकार ने सुरक्षा की तैयारी पुख्ता की।

Report4india / New Delhi/ Lucknow Bureau.

अयोध्या राम मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी होने के साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या में सुरक्षा के कड़े फैसले लिए हैं। सरकार ने सभी जिम्मेदार अधिकारियों की छुट्टियां 30 नवम्बर तक रद्द कर दी गईं है। खासतौर पर, दीपावली को लेकर सुरक्षा की तैयारी पुख्ता कर दी गई है। पिछले दिनों अयोध्या में धारा 144 लगा दिया गया गया था। फैसला 17 नवबंर तक आने की उम्मीद है।

उत्तर प्रदेश सरकार के नए आदेश के मुताबिक, अधिकारियों को अपने मुख्यालय पर ही बने रहने है। दीपावली पर और फैसले से पहले सुरक्षा की सभी तैयारी पुख्ता होनी चाहिए। हालांकि, अयोध्या में 13 अक्टूबर को धारा 144 लागू करने के साथ ही बड़े पैमाने पर सुरक्षाबलों को बुला लिया गया है।

उधर, सुनवाई पूरी होने के साथ ही बयानवीर भी शुरू हो गये हैं। भाजपा के सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण छह दिसंबर से शुरू हो जाएगा। साक्षी महाराज ने कहा, “यह तर्कसंगत है कि मंदिर का निर्माण उसी तारीख को शुरू होना चाहिए, जब ढांचा गिराया गया था।”

साक्षी महाराज ने उन्नाव में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, “यह सपना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयासों के कारण साकार होने जा रहा है।”

उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण में मदद के लिए हिंदू और मुस्लिमों को एक साथ आना चाहिए। उन्होंने कहा, “सुन्नी वक्फ बोर्ड को इस तथ्य को स्वीकार करना चाहिए कि बाबर एक हमलावर था और उनका पूर्वज नहीं था।”

उधर, बीजेपी राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि सुन्नी पक्ष इस मसले पर कमजोर है और फैसला राम मंदिर के पक्ष में ही होगा ऐसा उन्हें लगता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here