बज़ट 2020 की …बड़ी बातें

0
294

करदाता की नई व्यवस्था वैकल्पिक होगी और चाहे तो वह पुराने नियम के मुताबिक टैक्स रिर्टन भर सकता है अथवा नये नियम के मुताबिक। टैक्स नियमों को सरल बनाने के लिए टैक्स एप्लिकेशन में 70 नियमों को हटा दिया गया है।

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ नई दिल्ली।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अबतक का लंबा बज़ट भाषण दिया है जिसमें उन्होंने बज़ट के विभिन्न सेक्टरों को लेकर सरकार की नीति को सामने रखा। वित्त मंत्री ने बज़ट में जो घोषणा की उसे मुख्य रूप से इस प्रकार देखा जा सकता है। करदाता की नई व्यवस्था वैकल्पिक होगी और चाहे तो वह पुराने नियम के मुताबिक टैक्स रिर्टन भर सकता है अथवा नये नियम के मुताबिक। टैक्स नियमों को सरल बनाने के लिए टैक्स एप्लिकेशन में 70 नियमों को हटा दिया गया है।

सरकार ने बैंक में जमा उपभोक्ताओं के राशि को और सुरक्षित किया है। बैंक के डुबने की स्थिति में उपभोक्ताओं की राशि लौटाने की गारंटी में बदलाव कर एक लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपए किया गया है। यानी, सरकार की देय गारंटी एक लाख रुपए की जगह पांच लाख रुपए की होगी।

मुख्य बातें-

  • नॉमिनल जीडीपी पाने का लक्ष्य बढ़ाकर 10 फीसद किया गया।
  • LIC में सरकार अपना हिस्सा आईपीओ के जरिए बेचेगी।
  • 70 टैक्स डिडक्शन हटाए गए
  • शिक्षा में विदेशी निवेश
  • नई भर्ती प्रक्रिया लागू होगी
  • स्टडी इन इंडिया कार्यक्रम
  • संरचनात्मक विकास में पांच साल में 100 लाख करोड़ कर्च करने की योजना
  • क्वांटम तकनीक के लिए 6000 करोड़ रुपए (डेटा पार्क बनाया जाएगा)
  • बैंकों में जमा राशि पर एक लाख की जगह 5 लाख रुपए की गारंटी
  • आधार के जरिए पैन संख्या जल्द मिलेगा
  • सस्ते होम लोन पर ब्याज में छूट एक साल और बढ़ाया गया
  • भारत का एफडीआई 285 बिलियन डॉलर हुआ
  • बीमा जोयना से 6.11 करोड़ किसानों को जोड़ा गया
  • हर जिले में जन औषधि केंद्र खोले जाएंगे।
  • राष्ट्रीय पुलिस व राष्ट्रीय फॉरेंसिक विश्वविद्यालय की स्थापना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here