BIHAR : करगहर कांग्रेस विधायक संतोष मिश्रा के भतीजे की हत्या

0
222
हत्या के बाद शव के साथ स्थानीय लोग तथा मृतक संजीव मिश्र (इनसेट)।

हत्या के पीछे पुरानी दुश्मनी के साथ ही लंबे समय से क्षेत्रीय राजनीति में सक्रिय चुनाव के बाद हताश सफेदपोश जातिगत अपराध तंत्र के साजिश की चर्चा

@drmanojtiwari/report4india.com/ Sasaram/Parsathuan.

हत्या/अपराध
रोहतास जिले के करगहर विधानसभा के विधायक संतोष मिश्रा के भतीजा संजीव मिश्रा की बीती रात बाइक सवार हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। संजीव को परसथुआं स्थित उनके घर में घुसकर ताबड़तोड़ गोली या गया। संजीव को चार गोली लगी। गंभीर हालत में उन्हें इलाज के लिए मोहनिया लाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। अपने भतीजे की हत्या से मर्माहत विधायक सतोष मिश्रा ने राज्य में कानून-व्यवस्था को लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, क्षेत्र में प्रशासन व सरकार की जगह अपराधियों का वर्चस्व है और सुशासन के नाम पर हत्या व आतंक है।

इधर, हत्या को लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाएं हैं। इस हत्या से क्षेत्र के ब्राह्मण समाज आक्रोशित व दुखी है। आज़ादी के बाद इस क्षेत्र में पहली बार चुनावी लोकतंत्र में ब्राह्मण समाज के उम्मीदवार को मिली जीत और इससे परेशान जातिगत-राजनीतिक अपराध से जुड़े खतरनाक तंत्र को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। संजीव मिश्रा ने इस चुनाव में जीत के लिए काफी मेहनत की थी और अप्रैल में आसन्न पंचायत चुनाव में सक्रिय भागीदारी की व्यापक चर्चा थी। हालांकि, पुरानी रंजीश भी इस हत्या के पीछे बताई जा रही है। इससे पहले मिश्रा परिवार में ही कामता मिश्र, चंद्रमा मिश्र, गुमटी मिश्र की भी हत्या की गई है। उस दौरान राजनीतिक रूप से पूर्व मंत्री व क्षेत्र के कांग्रेस के दिग्गज नेता गिरीश नारायण मिश्र सक्रिय थे। परंतु, दशकों बाद संतोष मिश्रा के विधानसभा का चुनाव जीतते ही इस हत्या को अंजाम दिया गया।

साफतौर पर, हत्या के पीछे दुश्मनी तथा क्षेत्र में लंबे समय से चुनावी राजनीति में सक्रिय रहे फिलहाल हताश जातिगत सफेदपोश अपराध तंत्र के गठजोड़ है, जिसकी चर्चा हो रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here