ममता बनर्जी पर बीजेपी का हमला, रुपयों के भंडार मिले

0
232
कोलकाता : नोटों का ढेर

शिक्षक घोटाले में ईडी की कार्रवाई के दौरान 21 करोड़ रुपये कैश और कई किलो सोना प्राप्त हुआ है। मामले में ईडी ने ममता सरकार के मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी नजदीकी महिला अर्पिता की गिरफ्तारी के बाद प्रदेश की राजनीति में हलचल

report4india bureau/ New Delhi/ Kolkata.

पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने ममता सरकार में नंबर दो मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया है। ईडी की छापेमारी में पार्थ चटर्जी के नजदीकी अर्पिता के घर से अबतक 21 करोड़ रुपये नकद और करीब एक करोड़ रुपये के सोने की ज्वेलरी बरामद की गई है। छापेमारी जारी है। ईडी के राडार पर पार्थ की नजदीकी अस्सिटेंट प्रोफेसर मोनालिसा दास भी राडार पर हैं। बरामदी में विदेशी मुद्रा, सरकारी कागजात, उम्मीदवारों के प्रवेश पत्र और अन्य आपत्तिजनक चीजें बरामद हुईं हैं।

इस पूरे मामले में बीजेपी ने प्रेस कांफ्रेंस कर ममता सरकार पर हमला बोला है। बीजेपी नेता केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि जनता का पैसा लूटा गया। भर्ती में व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ और नोटों के भंडार मिले हैं। उन्होंने कहा, ममता सरकार में भ्रष्टाचार, गुंडागर्दी और अराजकता बड़े पैमाने पर है। कार्रवाई पर लोगों को एकत्रित कर हंगामा करना, केंद्रीय व जांच एजेंसियों पर दबाव बनाना सरकार समर्थित अराजकता का हिस्सा है।

बीजेपी सांसद दिलीप घोष ने कहा कि भर्ती के नाम पर बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। बहुत लोग व मंत्री इस घोटाले से जुड़े हैं। बंगाल की जनता को लूटा जा रहा है। योग्य उम्मीदवारों को नौकरी नहीं मिला और पैसे के बल पर ऐसे लोगों को नौकरी दी गई जो परीक्षा तक में शामिल नहीं हुए।