परंपरा-श्रद्धा सहित देश-दुनिया में छठ पर अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को अर्घ्य  

0
1050

बिहार, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, झारखंड, उत्तर प्रदेश, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और सभी तटीय राज्यों में डूबते हुए भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया गया।   

Report4India National Desk/ Including reports from various reporters.

नई दिल्ली। देश और दुनिया के हर कोने में जहां भी पूर्वांचलवासी है, पूरी परंपरा, श्रद्धा और पवित्रता के साथ छठ का पर्व मनाया जा रहा है। शनिवार को शाम को व्रतधारियों ने अस्ताचलगामी भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर ऊर्जा के अधिष्ठाता से सुख व समृद्धि की कामना की। देश में बिहार, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, झारखंड, उत्तर प्रदेश, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और सभी तटीय राज्यों में डूबते हुए भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया गया।

बिहार की राजधानी पटना के गंगा घाट पर लाखों व्रतधारियों ने अपने परिजनों, पड़ोसियों, ईष्ट-मित्रों के साथ पहुंचकर आदी देव भगवान दीनानाथ को अर्घ्य दिया। कई व्रतधारियों ने दंडवत करते हुए घर से घाट तक पहुंचे। बिहार के राज्यपाल फागू सिंह चौहान व सीएम नीतीश कुमार ने गंगाघाट पहुंच कर व्रतधारियों का आशीर्वाद प्राप्त किया।

उधर, देश की राजधानी दिल्ली सहित एनसीआर के इलाकों गाजियाबाद, गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, मेरठ, सोनीपत आदि में लाखों पूर्वांचलवासियों ने यमुना के घाट सहित मंदिर परिसरों में स्थित सरोवरो, के साथ खाली स्थानों पर बनाए गए अस्थायी घाटों पर सूर्य भगवान को अर्घ्य दिया गया।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित लक्ष्मण मेला स्थल घाट पहुंचकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने भगवान सूर्य को अर्घ्‍य दिया। इस मौके सीएम योगी ने काह कि हमारा भोजपुरी समाज देश और दुनिया में जहां कहीं गया अपने साथ इस आस्‍था के पर्व को भी लेकर गया है। छठ पूजा केवल भोजपुरी समाज का ही नहीं बल्‍क‍ि इस पूरे देश और विदेश में भी मनाया जा रहा है। यह पर्व सामाजिक समरसता का प्रतीक भी है।

उधर, अमेरिका के कैलीफोर्निया, न्यूयार्क, शिकागों आदि कई शहरों में रहने वाले बिहार व पूर्वांचल के भारतीय मूल के लोगों ने परंपरा के साथ छठ मनाने की तैयारी कर रखी है।

 तमाम छठ घाटों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया है।