Corona’s horror : केरल में नया खौफ, निपाह वायरस से बच्चे की मौत

0
293

24 घंटे में केरल में 29 हजार से ज्यादा नए केस मिले हैं। पॉजिटिविटी रेट 17 फीसदी से अधिक

report4india/ News Agency/ New Delhi.

तिरुवनंतपुरम। केरल में लंबे समय से बेकाबू कोरोना का खौफ अब देश को डराने लगा है। केरल में कोरोना का नया वेरियंट निपाह वायरस से राज्य के रेझीकोड में 12 साल के एक बच्चे की मौत हो गई। पुणे राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान ने बच्चे के खून के नमूने में निपाह वायरस की पुष्टि की है।

इस बारे में केरल की पिनरई विजयन सरकार में स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि शनिवार तड़के पांच बजे बच्चे की मौत हो गई। सरकार इस बच्चे के संपर्क में आए लोगों को तलाश रही है। सभी कॉन्टैक्ट की ट्रेसिंग कर उन्हें आईसोलेट किया जाएगा। इससे पहले जून 2018 में भी राज्य में निपाह वायरस के मामले सामने आए थे और उस समय 18 मरीजों में से 17 की मौत हो गई थी।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो, फ्रूट बैट प्रजाति के चमगादड़ों की वजह से निपाह वायरस फैलता है। इस वायरस का कोई इलाज नहीं है और ये बहुत खतरनाक है।

बीते 24 घंटे में राज्य में 29 हजार से ज्यादा नए केस मिले हैं। पॉजिटिविटी रेट 17 फीसदी से अधिक है। एक्टिव केस भी ढाई लाख हो गए हैं। 142 और लोगों की मौत के साथ मरने वालों की संख्या 21422 हो गई है।

उल्केलेखनीय है कि केरल सरकार ने बकरीद पर राज्य भर में दुकानों को तीन दिन खोलने का फैसला किया था। तभी आशंका जताई जा रही थी कि कोरोना के मामले बढ़ सकते हैं। इस मसले पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने चेतावनी भी दी थी, लेकिन राज्य सरकार नहीं मानी। बकरीद के बाद से ही केरल में कोरोना ने और तेजी पकड़ ली। राज्य में हर रोज 30 हजार से ज्यादा नए केस आ रहे थे।