2027 तक भारत दुनिया की तीसरी बड़ी इकोनॉमी

0
115

बैंकिग इन्वेस्टमेंट कंपनी जेपी मॉर्गन की रिपोर्ट में खुलासा। भारत दुनिया का सबसे तेजी से ग्रोथ करने वाला देश, पांच साल में जर्मनी व जापान को पीछे छोड़ भारत तीसरी बड़ी आर्थिक शक्ति बनेगा

जर्मनी का ग्रोथ माइनस में-0.3 जापान 1.6, चीन का रिर्वस 2.3 फीसद, पूरा यूरोप रिसेशन में। अमेरिका भी करीब-करीब रिसेशन ( आर्थिक शिथिलता या मंदी) में आ गया है। 

रिपोर्ट4इंडिया/ नई दिल्ली।

दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था भारत 2027 तक दुनिया की तीसरी बड़ी आर्थिक महाशक्ति बन जाएगा। बैंकिंग इन्वेस्टमेंट कंपनी जेपी मॉर्गन ने यह रिपोर्ट जारी किया है। जेपी मऑर्गन ने कहा कि 2027 तक भारत जर्मनी व जापान को पछाड़कर तीसरी आर्थिक महाशक्ति बन जाएगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत जिस तरह से आर्थिक ग्रोथ को गेन कर रहा है वह बहुत ही तेज है और दुनिया का कोई देश इसके आसपास नहीं है। हालात यह है कि, जर्मनी का इकोनॉमी ग्रोथ माइनस में 0.3 फीसद है जबकि जापान का ग्रोथ मात्र 1.6 फीसद है। चीन भी रिसेशन में है और उसका भी ग्रोथ रिवर्स में 2.3 फीसद है। इसके साथ ही पूरा यूरोप आर्थिक रूप से तंगहाल है और रिसेशन से जूझ रहा है। अमेरिका की भी आर्थिक हालात डावाडोल है और करीब-करीब रिसेशन के कगार पर खड़ा है। ऐसी स्थिति में भारत का इकोनॉमी ग्रोथ दुनिया की ताकत बनकर उभर रहा है।

उधर, अमेरिका ने भारत को करेंसी लिस्ट से बाहर कर दिया है जबकि चीन अभी भी निगरानी सूची में है। करेंसी निगरानी सूची से बाहर होना भारत की आर्थिक शक्ति को दर्शाता है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका अपने प्रमुख भागीदार देशों की मुद्रा पर निगरानी के लिए एक सूची तैयार करता है और अपने प्रमुख व्यापार भागीदारों की मुद्रा संबंधी गतिविधियों और आर्थिक नीतियों पर नजर रखता है। जिन देशों के फॉरेन एक्सचेंज रेट पर उसे शक होता है, उन्हें इस सूची में डाल देता है। भारत पिछले दो साल से अमेरिका की मुद्रा निगरानी सूची में था।