कश्मीर में आतंकियों ने तीन बीजेपी नेताओं की हत्या की, राज्य में उबाल

0
754
वारदात स्थल पर जांच करती पुलिस। मारे गए बीजेपी कार्यकर्ता (इनसेट)

पुलिस के अनुसार पाकिस्तान समर्थित लश्कर आतंकियों ने प्री-प्लान के साथ वारदात को अंजाम दिया

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में 370 हटाने के विरोध में खुले में घूम रहे पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती और नेक्रां नेता फारूक अब्दुल्ला के चीन-पाकिस्तान से समर्थन लेने और देश विरोधी बयान के बाद आतंकियों ने बीजेपी के तीन नेताओं की बृहस्पतिवार रात गोली मारकर हत्या कर दी। कश्मीर घाटी में सेना आतंकियों के खिलाफ लगातार ऑपरेशन चला रही है।

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में बीजेपी के 3 नेताओं की हत्या के बाद कश्मीर की राजनीति में उबाल आ गया है। बीजेपी ने जहां इसे कायराना हमला बताया है वहीं जम्मू-कश्मीर पुलिस आईजी ने कहा है कि यह प्री-प्लान साजिश है। हालांकि, उन्होंने नेताओं से आग्रह किया है कि वे बिना सुरक्षा के आने-जाने से बचे और तय गाइड लाइन का पालन करें। उन्होंने कहा, 5 अगस्त से पहले 16 से 19 लोगों की सूची बनाई गई थी और इन सभी को अलग-अलग होटल में रखा गया था, जिनमें मारे गए नेता फिदा हुसैन भी थे। कुछ दिन पहले वह शपथ पत्र देकर घर चले गए थे। पुलिस जांच कर रही है कि वह घर से इतनी दूर क्यों गए थे।

इस वारदात में तीन स्थानीय आतंकियों पर पुलिस को शक है, जिसमें अब्बास, शेख, निसार शामिल है।

कुलगाम हमले में मारे गए भाजपा युवा मोर्चा के महासचिव फिदा हुसैन के पैतृक गांव में उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई जिसमें बड़ी तादाद में लोग शामिल हुए।