MACB का खंडन, सिंचाई घोटाले में अजित पवार को नहीं मिली है क्लीनचिट

0
331
अजित पवार।

महाराष्ट्र सहित देश में गलत संदेश प्रसारित होने की सूचना के बाद महाराष्ट्र भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो ने प्रेस रिलिज जारी कर खबर का खंडन किया।  

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री अजित पवार के खिलाफ महाराष्ट्र भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो (एमएसीबी) द्वारा जारी सिंचाई घोटाले के जांच में में क्लीनचिट मिलने की खबर का खंडन किया है। एमएसीबी ने प्रेस रीलीज जारी कर साफ किया है कि वह मामला अलग था और जांच अब भी जारी है। एसीबी ने साफ किया है कि जो 9 मामलों की जांच बंद की गई है, उससे अजित पवार का कोई संबंध नहीं है।, अन्य 24 मामलों की जांच जारी है।

पहले खबर आई थी कि, महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और एनसीपी नेता अजित पवार के ऊपर चल रहे सिंचाई घोटाले को 9 मामलों में महाराष्ट्र भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो ने क्लीनचिट दे दी है। इस खबर से महाराष्ट्र में सहित देश में गलत संदेश प्रसारित होने लगे कि अजित पवार के डिप्टी सीएम बनते ही उनके उपर से भ्रष्टाचार के मामले बंद कर दिए गए। इस खबर के बाद जांच एजेंसी ने प्रेस रिलिज जारी कर खबर का खंडन किया।

उल्लेखनीय है कि एसीबी ने 70,000 करोड़ रुपए के सिंचाई घोटाले में कई केस दर्ज कर उनकी जांच की जा रही है। राज्य सरकार के सूत्रों की मानें तो जिन मामलों में अजित पवार को क्लीन चिट दी गई हैं इन मामलों से उनका संबंध नहीं है। सूत्रों की मानें तो बॉम्बे हाईकोर्ट के निर्देशों के बाद उन्हें क्लीन चिट दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here