नेताजी अखंड भारत के पहले प्रधान, …उनके विचारो-आदर्शों के ‘कर्तव्यपथ पर चलेगा देश : PM MODI

0
63

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आजादी के बाद नेताजी और नेताजी के प्रतीक चिन्हों को भुलाने-विसराने का काम किया गया। 

Manoj Kumar Tiwary/ New Delhi@report4india.

सेंट्रल विस्टा के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में देशवासियों का आह्वान किया कि हमारा महान देश एक अलग रास्ते पर चल चुका है जहां से विरासत और आधुनिकता व विकास का मिलाजुला संगम दिखता है। आजादी के बाद हमें अपनी विरासत और वीरों को नजरंदाज करने की कोशिश की गई। लेकिन आज समय बदल गया है। आज नेताजी सुभाषचंद्र बोस हमारी प्राथमिकता में हैं और उनके बताये रास्ते पर देश चलने की कोशिश कर रहा है। पीएम मोदी ने कहा, नेताजी आजादी से पहले अकंड भारत के असली प्रधान थे। हमारी सरकार ने नेताजी के 125वीं वर्षगांठ पर कई कार्यक्रम आयोजित किये। उनके विचारों और कार्यक्रमों के आधार पर ही हमनें अंडमान द्वीप समुह के कई द्वीपों के नामकरण उनके विचारों-प्रतीकों के आधार पर किया। इंडिया गेट पर सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा इसका गवाह है।

पीएम मोदी ने कहा कि ‘राज का रास्ता’ यानी राजपथ लोकतंत्र का संबल नहीं दे सकता। लोकतंत्र में कर्तव्य-बोध ही देश की शक्ति और सामर्थ्य का आधार है। जिस रस्ते पर देश की सरकार अवस्थित है, वह कर्तव्यपथ से चलेगी।