रेडियो संदेश जाम होने से विंग कमांडर अभिनंदन को जरूरी सूचनाएं नहीं मिली थी

0
110

केंद्र सरकार ने रक्षा मंत्रालय के नया सॉफ्टवेयर बनाने के फैसले को मंजूरी दी। अब नहीं होगा कंट्रोल रूम व फाइटर जेट पाइलट के बीच रेडियो संदेश जाम

Report4india National Bureau/ New Delhi.

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को मार गिराने के बाद वायुसेना विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान के विमान का पीओके में गिरने के मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। वायुसेना ने कहा है कि 27 फरवरी 2019 को हुई इस घटना में खुलासा हुआ है कि विमान का रेडियो जाम होने के कारण कंट्रोल रूम से भेजे गए मैसेज विंग कमांडर अभिनंदन तक नहीं पहुंच पाए थे।

बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद वायुसेना उप-प्रमुख ने केंद्र सरकार को इसकी पूरी रिपोर्ट भेजी थी और इसमें पूरे ऑपरेशन को विस्तार से समझाया गया था।

रिपोर्ट में बताय़ा गया था कि रेडियो जाम होने के चलते लोकेशन व अन्य सूचनाएं विंग कमांडर अभिनंदन तक पहुंच नहीं पाया। इससे उन्हें यह जानकारी नहीं मिली कि वे किस इलाके में गिरे हैं।

रिपोर्ट के बाद अब केंद्र सरकार ने इस मामले में बड़ा कदम उठाया है। रक्षा मंत्रालय ने इस संबंध में एक प्रपोज़ल को केंद्र सरकार ने मंजूरी दी है, जिसके तहत रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाने पर काम करेगा जिसके तहत लड़ाकू विमान में बैठे पायलट और ग्राउंड पर मौजूद कंट्रोल रूम का रेडियो जाम नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here