मुंबई अवैध उगाही मामले से पल्ला झाड़ने की शरद पवार की कोशिश

0
722
शरद पवार मीडियो को संबोधित करते हुए।

शरद पबार बोले, अनिल देशमुख पर आरोप है पर सबूत नहीं। चिट्ठी पर परमबीर का हस्ताक्षर नहीं 

report4india bureau/ New Delhi.

मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के खुलासे के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया है। इसकी जांच की आंच सरकार पर पहुंचते देख एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार मीडिया के सामने आए और इस पूरे मामले से पल्ला झाड़ने की कोशिश की। उन्होंने परमबीर सिंह के आरोपों पर सवाल खड़ा किया और अनिल वाजे की नियुक्ति का फैसला भी परमबीर सिंह के माथे मढ़ दिया। हालांकि, मीडिया के इस सवाल पर कि वाजे की नियुक्ति पर सवाल उठाए जाने के बाद भी क्या राज्य के गृहमंत्री इस तरह के निर्णयों की फाइल नहीं देखते?

आरोपों को लेकर गृहमंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफा को लेकर सवाल पर शरद पवार ने कहा कि यह मामला सीएम को देखना है। यह पूचे जाने पर कि परमबीर सिंह ने आपसे मुलाकात का और इस संबंध में आपको जानकारी देने की जिक्र किया है। इस पर उन्होंने मुलाकात की बात मानी और कहा कि उन्होंने राजनीतिक दबाव की बात कि पैसे उगाहे जाने की नहीं। उन्होंने इस मामले की जांच रिटायर्ड अधिकारी जुलियो रिबेरो से जांच कराए जाने की बात कही।