पीएम सुरक्षा में सेंघ मामले में सुप्रीम कोर्ट सख्त, NIA की जांच  

0
176

सुनवाई के दौरान आतंकवाद और बाहरी खतरे से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की बदनामी का सवाल खड़ा हुआ। अगली सुनवाई सोमवार को 

report4india bureau/ new delhi.

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को कार्यवाही शुरू होते ही सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक केस को लिया गया। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए सभी पक्षों को अपना पक्ष रखने को कहा। सबसे पहले सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया (एसजीआई) तुषार मेहता ने इस मामली की गंभीरता की ओर इशारा करते हुए कई तथ्य कोर्ट में प्रस्तुत किये। इस दौरान कुछ वीडियो कोर्ट की संज्ञान में लाया गया, जिनमें कहा गया कि खालिस्तानी आंतकवादी तत्व मौके पर शामलि थे।

एसजीआई ने कहा कि मामले को एनआईए को सौंपा जा सकता है। इसमें अंतरराष्ट्रीय आंतकवाद का मामला है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की बदनामी भी हुई है। पीएम मोदी के काफिले के बीच सड़क पर पुलिस के सामने असामाजिक तत्व रास्ता जामकर प्रधानमंत्री के स्वागत में लगे पोस्टर फाड़ रहे थे, लाठी व अन्य हथियार लहरा रहे थे। जबकि पुलिस हाथ पर हाथ रखकर खड़ी थी, चाय पी रही थी।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई सोमवार को सूचीबद्ध कर एक आदेश दिया कि इस मामले की जांच में एनआईए शामिल होगी।