वंदेमातरम् गायन के बिना उद्धव ने पास किया ‘सेक्यूलर’ फ्लोर टेस्ट

0
314

नियमों का उल्लंघन के आरोप में BJP का सदन से वॉकआउट, सरकार को 169 विधायकों का समर्थन 

Report4India Bureau/ Mumbai/New Delhi.

महाराष्ट्र विधानसभा में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सरकार ने फ्लोर टेस्ट में बहुमत प्राप्त कर लिया। बीजेपी ने नियमों के उल्लंघन का हवाला देकर सदन से वाकआउट किया। पूर्व सीएम व सदन में बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे पर संविधान के तहत शपथ नहीं ली थी।

चर्चा शुरू होते ही बीजेपी के विधायक नियमों के उल्लंघन को लेकर हंगामा शुरु कर दिया। देवेंद्र फडणवीस ने सवाल उठाया कि वंदेमातरम् से सदन की शुरुआत क्यों नहीं हुई। नियमों के खिलाफ सदन को बुलाया गया। जिस तरह से विधायकों ने शपथ ली उस पर आपत्ति दर्ज कराई। हालांकि, प्रोटेम स्पीकर ने कहा कि सदन के बाहर क्या हुआ उस पर बात नहीं करनी चाहिए।

फ्लोर टेस्ट में 4 विधायकों ने तटस्थ रहकर उद्धव ठाकरे का अपरोक्ष समर्थन किया जिनमें असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के दो विधायक, राज ठाकरे की पार्टी मनसे के एक विधायक और सीपीआई-एम के एक विधायक शामिल रहे।

फ्लोर टेस्ट के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकर ने सभी सदस्यों का धन्यवाद ज्ञापित किया। उद्धव ठाकरे ने कहा, मुझे सदन में काम करने का अनुभव नहीं है, मैं मैदान में लड़ने वाला आदमी हूं। वैचारिक मतभेद रखने का अलग तरीका होता है। सदन में वैचारिक मतभेदों को गलत तरीके से रखा गया। यह महाराष्ट्र की परंपरा नहीं है। मुझे गर्व है कि मैंने अपने आदर्शों का नाम लेकर शपथ ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here