उत्तर प्रदेश में 1500 सामुदायिक रसोई घर खोलने का निर्णय

0
90

लॉकडाउन के दौरान ऐसे गरीब, वंचित, बेधर लोगों को व्यवस्थित तरीके से भोजन दिया जाएगा ताकि उन्हें इसके लिए बेवजह इधर-उधर भागना न पड़े।

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ लखनऊ/ नई दिल्ली। 

जनसंख्या के लिहाज से देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश ने प्रदेश के विभिन्न शहरों में 1500 सामुदायिक किचेन खोलने जा रही है। उसके माध्यम से लॉकडाउन के दौरान ऐसे गरीब, वंचित, बेधर लोगों को व्यवस्थित तरीके से भोजन दिया जाएगा ताकि उन्हें भोजन की आसपास बेवजह इधर-उधर भागना न पड़े। यह राज्य सरकार का बेहद प्रशंसनीय कदम माना जा रहा है। इस प्रयास से सड़कों पर निकलने वाली भीड़ कम हो जाएगी।

इसके साथ ही, उत्तर प्रदेश सरकार को जबसे यह पता चला है कि दिल्ली जैसे बड़े राज्यों से कामगार, दैनिक श्रमिक व रेहड़ी-पटरी लगाकर जीवन-यापन करने वाले अपने-अपने गृह जनपदों के लिए पैदल ही निकल पड़े हैं। ऐसी स्थिति में राज्य सरकार को इतने बड़े पैमाने पर लोगों के इधऱ-उधऱ धूमने व सड़क पर निकलने से लॉकडाउन का जो उद्देश्य वह ही बाधित होता दिखाई दे रहा है। सरकार ने इस संबंध में नजदीकी लोगों को सुरक्षित तरीके से जहां उनके घरों को बेजने की व्यवस्था करने काे सक्रिय हुई है वहीं, दूर जाने वाले को नजदीकी सुरक्षित क्षेत्रों में रोककर उन्हें भोजपा-पानी उपलब्ध कराने की व्यवस्था पर भी जोर दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here