हरियाणा चुप, केरल का इनकार और …बिहार का बहाना

0
8
manohar-lal-cm-haryana

10 बीजेपी शासित राज्यों ने घटाया पेट्रोल-डीजल पर घटाया वैट, इन राज्यों में 5 रुपये कम होंगी तेल की कीमतें

मनोज कुमार तिवारी/रिपोर्ट4इंडिया।

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में लगातार वृद्धि और डॉलर के मुकाबले रुपए में लगातार गिरावट से साफ हो गया है कि पेट्रोल व डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का सिलसिला थमने वाला नहीं है। इस भयावह स्थिति को देखते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री ने केंद्रीय उत्पाद शुल्क में कमी के साथ ही पेट्रो कंपनियों से राहत का निर्धारण करते हुए दोनों तेल उत्पादों पर ढाई-ढाई रुपए प्रति लीटर की राहत देने की घोषणा की। साथ ही, राज्यों से अपील की कि वे भी कम से कम ढाई रुपए प्रति लीटर की राहत दें।

चुकि देश में ज्यादातर राज्यों में बीजेपी की सरकार है इसलिए वित्त मंत्री के अपील पर बीजेपी शासित राज्यों ने धीरे-धीरे तेल कीमतों में अपनी तरफ से कमी का ऐलान किया है। अबतक 11 राज्यों ने कमी की घोषणा की है लेकिन हरियाणा सरकार की ओर से अबतक कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखी है। जबकि केरल ने यह कहते हुए कमी से साफ इनकार कर दिया कि राज्य की हालात फिलहाल ऐसी नहीं है कि वह कमी करे। उधर, बिहार ने कमी करने का नाम पर साफ बहाना बना दिया है। वित्त मंत्री ने जब प्रेस कांफ्रेंस कर के कमी करने की अपील की है तो बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को वित्तमंत्री की चिट्ठी की दरकार है। साफ है, बिहार के वित्त मंत्री तेल कीमतों में कमी करने को लेकर बहानेबाज़ी कर रहे हैं।

पटना से रिपोर्ट4इंडिया के संवाददाता के अनुसार इस मसले पर राज्य पर दबाव बढ़ गया है। मीडिया अब सीएम से इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया जानने की कोशिश में लगी हुई है। चुनाव के मुहाने पर बैठी पार्टियां व सरकारें इस तरह से इस मुद्दे पर बहानेबाज़ी नहीं कर सकती। सुशील मोदी फिलहाल दबाव की राजनीति में लगे हुए हैं। सूत्र बताते हैं कि बिहार सरकार की जुगत कुछ और समय हासिल कर पूरी राहत नहीं देने की है। हालांकि, इस मुद्दे पर बिहार में सरकार पर दबाब बनाने की विपक्षी पार्टियों की ओर निगाहें हैं।

अब तक, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, असम, गुजरात और महाराष्ट्र ने वेट में कटौती की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here