‘किराएदारी’ पर ओवैसी को मुकम्मल जवाब, …‘हिस्सेदारी तो 1947 में गई’

0
83
maghav-bhandari-owaishi

ऑल इंडिया मजलिस-ए इत्तेहादुल मुसलिमीन के चीफ ओवैसी के हकदार व किराएदार के बयान पर बीजेपी नेता ने दिया कड़ा जवाब। औवैसी ने कहा था, हम यहां पर बराबर के हकदार हैं, किराएदार नहीं हैं हिस्सेदार रहेंगे।

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली। देश में मुसलमानों की आबादी को राजनीति का हथियार बनाने का सपना देखने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए इत्तेहादुल मुसलिमीन के चीफ और देश में हमेशा नफरत फैलाने के मुसलमानों के ठेकेदार बनने वाले औवैसी को कड़ा और मुकम्मल जवाब दिया गया है। असदुद्दीन ओवैसी के बयान की हम भारत में बराबर के हकदार हैं, किराएदार नहीं हैं हिस्सेदार रहेंगे के जवाब में महाराष्ट्र के बीजेपी नेता माधव भंडारी ने कहा कि अगर ओवैसी हिस्सेदारी की बात कहेंगे तो तो फिर बोलेंगे कि हिस्सेदारी तो 1947 में दे दी गई थी। 1947 में मुसलमानों ने अपने लिए साढ़े नौ लाख वर्गकिमी. जमीन ले ली थी और वह भी हिन्दुओं के साथ नहीं रहने के नाम पर। ओवैसी इस तरह से बात करेंगे तो उन्हें महंगा पड़ेगा।

माधव भंडारी ने ओवैसी को साच-समझकर बोलने की नसीहत दी और ओवैसी को आजादी के बाद भारत के बंटवारे से बने पाकिस्तान की याद दिलाई। भंडारी ने कहा, ‘उनको (ओवैसी) किसी ने किराएदार नहीं कहा, लेकिन हिस्सेदारी की भाषा बोलेंगे तो हिस्सेदारी 1947 में दे दी, तो मामला खत्म हो गया।’

केंद्र में दूसरी बार प्रचंड बहुमत से मोदी सरकार बनने के बाद असदुद्दीन ओवैसी होश में नहीं हैं और लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं। उन्होंने पीएम मोदी की तरफ इंगित करते हुए कहा कि ‘कोई ये समझ रहा है कि हिंदुस्तान के पीएम 300 सीट जीत कर देश पर मनमानी करेंगे तो ऐसा नहीं हो सकता।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here