पेट्रोल-डीजल: BJP की सफाई अब कांग्रेस का पलटवार

0
119
bjp-congress-on-petro

पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी पर कांग्रेस के भारत बंद के बाद राजनीति गरमा गई है। भारत बंद पर कांग्रेस को आइना दिखाते हुए बीजेपी ने कई ग्राफिक्स दिखाकर बताया था कि कांग्रेस के शासन काल से वर्तमान में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत कम बढ़ी है। इसके बाद अब कांग्रेस ने ऐसे ही ग्राफिक्स जारी कर बीजेपी पर पलटवार किया है।

bjp-congress-on-petro

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली। पेट्रोलियम पदार्थ की कीमत में बढ़ोतरी पर कांग्रेस ने विपक्षी पार्टियों के साथ मिलकर भारत बंद का आह्वान किया और मोदी सरकार पर हमला बोला। कांग्रेस को इस बंद को बीजेपी ने राजनीतिक पैतराबाजी बताते हुए कहा कि नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल-सोनिया पर आए फैसले को जानते हुए कांग्रेस ने बंद का नाटक किया। इसके साथ ही, बीजेपी ने पेट्रो दामों पर ग्राफिक्स पेश कर बताया कि मनमोहन सिंह के दौरान जिस प्रतिशत में कीमतें बढ़ी थी, मोदी सरकार में यह इजाफा उससे कम है।

बीजेपी ने अपने ट्वीट में दिखाया था कि किस तरह 16 मई 2009 से लेकर 16 मई 2014 तक यूपीए सरकार को दौरान, तब 5 साल में, पेट्रोल की कीमतों में 75.8 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी। कीमत 40.62 रुपये से बढ़कर 71.41 रुपये तक पहुंच गई। लेकिन बीजेपी शासन में 16 मई 2014 से लेकर 10 सितंबर 2018 तक दामों में बढ़ोतरी 13 फीसदी ही रही। पेट्रोल की कीमत 71.41 रुपये से बढ़कर 80.73 रुपये तक पहुंची।

जवाब में, कांग्रेस ने अपने ट्वीट में बताया कि 16 मई 2009 से लेकर 16 मई 2014 के बीच जब पेट्रोल की कीमत 40.62 रुपये से बढ़कर 71.41 रुपये हुई, उस दौरान कच्चे तेल की कीमत में 84 फीसदी का इजाफा हुआ। वही, मोदी सरकार में 16 मई 2014 से 10 सितंबर 2018 के बीच कच्चे तेल के दाम 34 फीसदी घटते हुए 107 डॉलर प्रति बैरल से 71 डॉलर प्रति बैरल हो गया। इसके बावजूद भी पेट्रोल के दाम में इजाफा हुआ और पेट्रोल 71 रुपये से बढ़कर 80 के पार पहुंच गया।

बीजेपी ने कीमतों में इजाफे को रुपए से आकलन कर कांग्रेस सरकार के दौरान दामों की तुलना की थी। इसपर कांग्रेस ने डॉलर के हिसाब से कच्चे तेल की कीमतों को सामने रखकर मोदी सरकार के दौरान की तुलना में कम बताया है।

अब, देखना होगा कि कांग्रेस के इस प्रतिक्रिया पर बीजेपी क्या जवाब देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here