चन्नी के साथ आजतक का प्रायोजित इंटरव्यू …‘सवाल नहीं सफाई का प्लेटफार्म’

0
406
पंजाब के सीएम चन्नी का आजतक के साथ गाड़ी में प्रायोजित इंटरव्यू।

आजतक का मालिक अरूण पूरी खानदानी कांग्रेसी रहा है और आजतक हर स्थिति में कांग्रेस आलाकमान के मतव्य व राजनीतिक को प्रकट करने तथा कांग्रेस की परेशानी को कम करने का बेहतर प्लेटफार्म बनता रहा है।

Manoj Kumar Tiwary/report4india/ New Delhi.

पीएम मोदी के सुरक्षा चूक मामले में कांग्रेस आलाकमान पर बढ़ते दबाव के बीच खबरिया चैनल आजतक ने पंजाब के सीएम चन्नी के साथ एक प्रायोजित इंटरव्यू प्रसारित किया। यह इंटरव्यू पूरी तरह पंजाब सीएम चन्नी को अपना पक्ष रखने देने का केवल एक माध्यम बनता दिखा। इस इंटरव्यू में आजतक का एक निहायत कम पढ़ा-लिखा रिपोर्टर जो इस महत्वपूर्ण विषय से संबंधित उठे तमाम सवालों को पूछने की जगह केवल चन्नी को बोलने को मौका दे रहा था। चन्नी इस दौरान उन्हीं बातों को बार-बार दोहरा रहे थे, जो वे कल प्रेस कांफ्रेंस में बोल चुके थे।

घटनाक्रम के 24 घंटे बीत जाने के बाद सार्वजनिक तौर पर पूरे मामले में सैकड़ों वीडियो चल रहे हैं परंतु आजतक के रिपोर्टर ने उन सबूतों को लेकर एक भी सवाल सीएम चन्नी से नहीं किया। चन्नी बार-बार दोहरा रहे थे कि पीएम ने अचानक कार्यक्रम बदला। जबकि पंजाब एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) द्वारा एक और दो जनवरी को जारी चिट्ठी में उन सभी बातों को उल्लेख है कि मौसम ठीक नहीं रहेगा। पीएम सड़क मार्ग (मोगा टू फिरोजपुर) से जा सकते हैं। उसे लेकर रिहर्सल भी किया गया। तो फिर सीएम चन्नी बार-बार एकही बात क्यों  दोहरा रहे हैं कि अचानक कार्यक्रम बदल गया। इसके अलावा प्रधानमंत्री के काफिले से डीजीपी और चीफ सेक्रेटरी के अनुपस्थित रहने पर भी कोई सवाल नहीं पूछा गया।

परंतु, जैसे-जैसे यह इंटरव्यू आगे बढ़ी स्पष्ट हो गया कि यह पूरी तरह से प्रायोजित था (वैसे आजतक लंबे समय से प्रायोजित इंटरव्यू प्रसारित करने वाला चैनल रहा है। इसी कड़ी में हम पुण्य प्रसून वाजपेयी और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के इंटरव्यू को देख सकते हैं जिसमें पुण्य प्रसून वाजपेयी कहता है कि ‘यह बात सटीक रहेगा और इसे ही हम ज्यादा दिखायेंगे)। पहले से प्लान्टेड इस इंटरव्यू के दौरान कुछ लोग नारे लगाते हुए चन्नी के गाड़ी के समीप आते हैं। इसपर चन्नी कहते हैं कि देखिये चुनाव के दौरान लोग सीएम आदि के सामने विरोध दर्ज कराते ताकि उनकी समस्याओं (नौकरी, सहुलियतों) आदि पर कुछ हो सके। चन्नी गाड़ी रोकने को कहते हैं इसपर आजतक का रिपोर्टर अशोक सिंघल आगे बढ़ने को कहता है। इसके बावजूद चन्नी गाड़ी को रोककर विरोध कर रहे लोगों की तरफ बढ़ जाते हैं और उनसे पूछते हैं कि क्या परेशानी है और अपना मांगपत्र दो। इसपर प्रदर्शनकारी कहता है, कल दिन के 11 बजे हमारी आपके साथ मांगों को लेकर बैठक तय है। इसपर चन्नी कहते हैं कि पहले से बैठक तय है तो अभी क्यों रोका? इसके बाद  वापस आकर गाड़ी मैं बैठ जाते हैं और रिपोर्टर से कहते हैं, …देखा बस लोगों से बात ही तो करनी होती है। आप मुझे रोक रहे थे लेकिन मैंने जाकर लोगों से बात की। ऐसे ही प्रधानमंत्री से लोग बात करने के लिए सड़क के किनारे खड़े थे, इसमें कौन-सी बड़ी बात हो गई। पीएम की सुरक्षा है तो सीएम की भी कम तो नहीं है।

इस पूरे इंटरव्यू के दौरान रिपोर्टर का काम बस सीएम चन्नी के मुंह तक माइक लगाए ऱखना था। चन्नी जो मर्जी किया बोलते रहे और यहां तक चन्नी ने खुद को पीएम के समतुल्य बताने में भी गुरेज नहीं किया। हालांकि, स्मृति इरानी बता चुकी है कि सिद्धू के सामने इस चन्नी की हैसियत क्या है। पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सिद्धू द्वारा सरेआम इस सीएम चन्नी को गाली देते हुए सभी ने देखा है।