PM Modi : कांग्रेस को चैलेंज, दम हो तो धारा-370 वापसी की घोषणा करें

0
80
महाराष्ट्र के जलगांव में चुनावी सभा को संबोधित करते पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो-एएनआई)

महाराष्ट्र में चुनावी सभा को संबोधित कर कहा, कांग्रेस-एनसीपी धारा-370 के मुद्दे पर पाकिस्तान की भाषा बोल रही।

Report4india/ (including Agency input)

मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलगांव में रैली को संबोधित कर कांग्रेस व एनसीपी पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि ये दोनों पार्टियां अनुच्छेद 370 पर पाकिस्तान की भाषा बोलतीं हैं। इनमें दम हो तो वे अपने चुनावी घोषणा पत्र में 370 वापस लाने की घोषणा करें। प्रधानमंत्री रविवार को महाराष्ट्र विस चुनाव प्रचार की शुरुआत की। पीएम ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख मात्र जमीन का टुकड़ा नहीं है, बल्कि भारत का ताज है, उस क्षेत्र का हर हिस्सा भारत की सोच और शक्ति को समृद्ध करता है।

इस दौरान पीएम ने कहा, ‘मैं विपक्ष को चुनौती देता हूं कि वे घोषणापत्र में घोषणा करें कि वे अनुच्छेद 370 को वापस लाएंगे। नहीं तो वे इसे लेकर घड़ियाली आंसू बहाना बंद करें।’ उन्होंने  लोगों से सवाल किया, ‘क्या भारत के लोग उन्हें ऐसा करने की अनुमति देंगे? क्या भारत के लोग इसे स्वीकार करेंगे?’ पीएम ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर से संबंधित कांग्रेस-एनसीपी नेताओं द्वारा दिए गए बयानों को सुनना चाहिए। वे पूरे देश से एकदम विपरीत सोच है। उनकी सोच पड़ोसी देश जैसी ही है।’

उन्होंने कहा, कुछ दलों और नेताओं द्वारा भारत के हितों में फैसलों का विरोध दुर्भाग्यपूर्ण है। बीते ‘5 अगस्त को लोगों की इच्छा के अनुसार, हमने एक निर्णय लिया, जो उस समय तक अकल्पनीय था। उस समय एक ऐसी स्थिति थी जहां एकता और अखंडता के विचारों के खिलाफ केवल आतंकवाद, अलगाववाद और साजिश का विस्तार होता था। जम्मू-कश्मीर में कमजोर वर्गों के विकास की गुंजाइश न के बराबर थी।’

वाल्मीकि जयंती पर, मैं भाग्यशाली हूं कि जम्मू-कश्मीर के ‘वाल्मीकि’ भाइयों को गले लगा सकता हूं।’ पीएम ने कहा, ‘आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि 70 वर्षों से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में हमारे वाल्मीकि भाई भी मानवाधिकारों से वंचित थे। आज, मैं भगवान वाल्मीकि के सामने झुकता हूं कि मुझे अपने भाइयों को गले लगाने का सौभाग्य मिल रहा है।’ प्रधानमंत्री ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने भी जम्मू-कश्मीर और लद्दाख क्षेत्रों में सामान्य स्थिति सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक उपाय किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here