‘शुद्ध बकैती’ : पंजाब CM मान को किसने बताया, ‘एक वल्ब-एक पंखा’ चलाने का बिजली बिल 55-60 हजार रुपये

0
149

भगवंत मान के विज्ञापन में बोल सुनकर लोग सकते में हैं और कहते हैं भला एक वल्ब और एक पंखा चलाने पर बिजली बिल 55 से 60 हजार का कहां आता हैं? …..वैसे मुड बन जाये तो भला …कहने का बुरा क्यों मानें? 

report4india/ new delhi.

जैसे ही दिल्ली में शराब माफिया और केजरीवाल सरकार की सांठगांठ-घपला-घोटाला की सीबीआई जांट की खबर टीवी चैनलों पर फड़फड़ाने लगे और बीजेपी ने अगले दिन विरोधस्वरूप केजरीवाल और मनीष सिसौदियों का घेराव करने का ऐलान किया। जैसे ही अगले दिन बीजेपी ने प्रदर्शन शुरू किया। जैसे ही टीवी चैनलों पर यह खबर चलने लगी वैसी ही घंटे भर बाद ही पंजाब के सीएम भगवंत मान का विज्ञापन प्रत्येक ब्रेक के बाद शुरू हो गई। इसके बाद धीरे-धीरे चैनलों से बीजेपी के विरोध-प्रदर्शन का खबर गायब हो गई। आजतक जैसे चैनल शराब घोटले की विरोध की खबर के स्थान पर बाढ़ आदि की खबर दिखाने लगे। आजतक ने तो हेडलाइन में भी केजरीवाल सरकार के शराब घोटले की खबर को गायब कर दिया।

चैनलों पर आगे लगातार केजरीवाल का विज्ञापन चलने लगता है जिसमें अंग्रेजी स्पीकिंग से संबंधित विज्ञापन, स्कूल हैपिनेश से संबंधित विज्ञापन और पंजाब सरकार का बिजली बिल को लेकर विज्ञापन। हड़बड़ी में भगवंत मान के विज्ञापन में कई ऐसी बातें भी सुनी गईं जो वास्तव में संभंव नहीं है। भगवंत मान विज्ञापन में कहते हैं, चुनाव के दौरान बात करने पर बताया गया कि उनका बिजली बिल 55 हजार से लेकर 60 हजार तक आ रहे हैं। वे पूछते हैं लोड कितना है तो लोगों ने बताया कि वे केवल एक पंखा और एक वल्ब जताले हैं। जबकि लगातार एक वल्ब और एक पंखा चलाते रहे और बिजली का बिल 7 रुपये प्रति यूनिट हो तो भी बिजली बिल एक हजार-15 सौ रुपये से ज्यादा नहीं आ सकते है।

बहरहाल, टीवी पर लोग भगवंत मान और केजरीवाल के विज्ञापन देख-देख कर तंग आ चुके हैं। बातचीत में बहुत से लोगों ने बाताया कि वे इन विज्ञापनों से इरीटेट होकर टीवी बंद कर देते हैं। चुकि, सारे चैनल करीब-करीब एक समय में ही ये विज्ञापन दिखाना शुरू कर देते हैं।