वाकई …बंगाल में महंगी पड़ेगी ममता की हरकतें?  

0
31
Attack-on-BJP-workers

“एक दौर  था, राज्यों की सरकारों में इतना दम नहीं था कि वह केंद्र की कांग्रेस पार्टी और उसके कार्यकर्ताओं के खिलाफ ऐसी हरकतें कर सकें जैसा कि पश्चिम बंगाल में सीएम ममता बनर्जी की सरकार के दौरान हो रही है। कांग्रेस ने 50 से अधिक बार राज्य सरकारों को भंग किया है। केंद्र की सत्ता चला रही बीजेपी को पश्चिम बंगाल में रैली करने और यात्रा निकाले के लिए  कोर्ट की शरण में जाना पड़ रहा है। रैली में जाने वाले कार्यकर्ताओं को सरेआम राह चलते पीटा जा रहा। वाहनों में तोड़फोड़ की जा रहीं है और उन्हें  आग के हवाले किया जा रहा है। मतलब साफ है, पश्चिम बंगाल में बीजेपी के बढ़ते जनाधार को नाज़ीवादी तरीके से कूचलने की कसरत दरअसल ममता बनर्जी की चूलें हिलने का संकेत है।”        

प. बंगाल के पूर्वी मिदनापुर में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला।Attack-on-BJP-workers

मनोज कुमार तिवारी/ (कोलकाता इनपुट सहित)

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र पश्चिम बंगाल में सत्ताधीश ममता बनर्जी की टीएमसी भगवा पार्टी (पश्चिम बंगाल में तृणमूल बीजेपी को इसी नाम से है पुकारती) को हर प्रकार से दबाने का प्रयास कर रही ताकि वह राज्य में प्रचार तक नहीं कर सके। पहले रथयात्रा पर रोक, उसके बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के हेलीकॉप्टर को नहीं उतरने देने के हथकंडा अपनाने के बाद अब शाह की रैली में जाने वाले बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला (बीजेपी कार्यकर्ताओं पर सरेआम हमला टीएमसी के एक खास धर्म से संबंधित कार्यकर्ता कोलकाता की सड़कों पर निडरता से करते हैं), बसों में तोड़फोड़, आगजनी का खेल जारी है। मंगलवार को पूर्वी मिदनापुर में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह रैली को संबोधित करने पहुंचे थे। जैसे ही रैली खत्म हुई, बीजेपी कार्यकर्ताओं को ले जाने वाली एक बस पर टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया। बसों में तोड़फोड़, कार्यकर्ताओं को पीटने के अलावा एक बाइक को आग के हवाले कर दिया गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह सबकुछ पुलिस के सामने किया गया।

पश्चिम बंगाल में हालात ऐसे हैं कि पुलिस की मज़ाल नहीं कि वह टीएमसी कार्यकर्ता को रोक सके। घोषित तौर पर पुलिस टीएमसी के नेताओं के प्रति उत्तरदायी है। ममता बनर्जी बंगाल में ठीक वैसी ही सरकार चला रही है, जैसा कभी वामपंथी पार्टियां सरकार चलाया करती थीं।

रैली में शामिल होने गए कार्यकर्ता का बाइक आग के हवाले किया गया।TMC-attack.on-bjp-east-midnapore

बीजेपी ने कार्यकर्ताओं पर हमले के लिए ममता बनर्जी सरकार को दोषी ठहराया है। बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी को चेतावनी दी है कि पार्टी कार्यकर्ताओं पर इस तरह का हमला उन्हें महंगा पड़ेगा। यहीं नहीं बल्कि रैली के जाने वाले रास्तों पर ट्रक खड़े कर जाम लगा दिया गया ताकि लोग रैली में शामिल नहीं हो सकें। चारों तरफ यातायात को लेकर अव्यवस्था का आलम था।

पश्चिम बंगाल के बीजेपी के नेता राहुल सिन्हा ने कार्यकर्ताओं पर हमले को लेकर कहा कि, ‘टीएमसी हमारी बढ़ती ताकत से डर रही है, इसलिए वह हिंसा पर उतर आई है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सब कुछ पुलिस के सामने हुआ। हमलावरों ने महिला कार्यकर्ताओं तक को नहीं छोड़ा।’

दिल्ली में इस मुद्दे पर भाजपा प्रवक्ता संबिता पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि बंगाल में अराजकता फैली है और लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। उन्होंने कहा, अमित शाहजी की रैली में लाखों लोग आए थे। रैली के बाद बसों पर पथराव किया गया। बसों में आग लगाई जा रही है। कार्यकर्ताओ को निकाल-निकाल कर पीटा जा रहा है।

उधर, इस पर प्रतिक्रियास्वरूप टीएमसी नेता मदन मित्रा ने इसके लिए बीजेपी को ही जिम्मेदार ठहरा दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here