राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी से हिन्दू हुआ अपमानित

0
10
bhaiyaji-joshi

आरएसएस ने कहा, राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी दुखी करने वाला। सुप्रीम कोर्ट ने मामला टाला ये उनका अधिकार पर टिप्पणी हैरान करने वाला 

भैयाजी जोशी।प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भैयाजी जोशी (ANI)
रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ (एजेंसी इनपुट सहित) /2 नवम्बर 2018।
मुंबई। राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के नए मुख्य न्यायधीश के रवैये को लेकर देश में समाज व राजनीति दोनों में गरमी है। इस मामले में पहली बार आया औपचारिक रूप से आरएसएस का बयान बेहद महत्वपूर्ण है। यहां तीन दिनों से संघ की चल रही बैठक के बाद प्रेस को संबोधित करते हुए भैयाजी जोशी ने राम मंदिर के मुद्दे पर कहा,  अगर जरुरत पड़ी तो हम एक बार फिर 1992 जैसा आंदोलन करेंगे।

इस मामले पर पूछे जाने पर भैयाजी जोशी ने कहा कि कोर्ट के जरिए भी इसके निर्माण में बहुत देरी हो रही है। 2010 में इलाहाबाद कोर्ट के फैसले के बाद से ही ये मामला सुप्रीम कोर्ट में है। जब मामला 3 सदस्य पीठ के पास पहुंचा, हम चाह रहे थे कि दिवाली से पहले कुछ शुभ समाचार मिलेगा लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इसे टाल दिया है, ये उनका अधिकार है।

उन्होंने कहा कि जब कोर्ट से पूछा गया कि इसके बारे में आप कब बताएंगे, तो उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता अलग है। इस बात से हमें दुख पहुंचा है, सुप्रीम कोर्ट के जवाब से हिन्दू समाज अपमानित महसूस करता है। सुप्रीम कोर्ट इस मामले को जल्द से जल्द सुनें। हम सुप्रीम कोर्ट के फैसलों की उपेक्षा नहीं है, लेकिन न्यायालय की जिम्मेदारी बनती है कि वे लोगों की भावनाओं का सम्मान करे। अगर कोई विकल्प नहीं बचता है, तो सरकार को इस पर भी विचार करना ही पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here