सुरक्षित लेनदेन है डिजिटल प्रणाली आधारित क्रिप्टो करंसी : विकास गुप्ता

0
25
Virtual-Currency-ICO-Announ

सिंगापुर स्थित भारतीय कारोबारी विकास गुप्ता ने गिन्नी आईसीओ (इनिशियल कॉइन ऑफर) लॉन्च के मौके पर कहा, क्रिप्टोग्राफी का उपयोग डिजिटली लेनदेन को सुरक्षित रखता है। क्रिप्टोग्राफी का उपयोग लेनदेन को सुरक्षित रखने में मददगार

बॉलीवुड सितारों में भी बढ़ रहा क्रिप्ट्रो करंसी का क्रेज़

Virtual-Currency-ICO-Announमुबंई में शुक्रवार को गिन्नी आईसीओ लॉन्च की घोषणा के मौके पर कारोबारी विकास गुप्ता व अन्य सहयोगी।

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

मुंबई। देश-दुनिया में क्रिप्टो करंसी (वर्चुअल मुद्रा) को लेकर लोगों में उत्सुकता बढ़ती जा रही है। वैश्विक स्तर के साथ-साथ भारत में भी इसका प्रचलन तेजी से बढ़ रहा है। क्रिप्टो करंसी के बढ़ते क्रेज़ को देखते हुए सिंगापुर स्थित भारतीय कारोबारी विकास गुप्ता ने शुक्रवार को गिन्नी आईसीओ  (इनिशियल कॉइन ऑफर) के लॉन्च की घोषणा की है। गिन्नी आईसीओ में बड़ी संख्या में भारतीय निवेशक भी शामिल हो रहे हैं। श्रीगुप्ता कहते हैं, क्रिप्टो करंसी एक डिजिटल संपत्ति है जिसे अत्याधुनिक क्रिप्टोग्राफी प्रणाली के उपयोग से लेनदेन को सुरक्षित रखा जाता है।
वर्तमान में आधुनिक व डिजिटली आर्थिक व्यवस्था के प्रसार व समझ को लेकर विकास गुप्ता कहते हैं कि क्रिप्टोग्राफी की इस पूरी प्रक्रिया में कैश या बैंकिंग प्रणाली की कोई प्रत्यक्ष भागीदारी नहीं है। निवेशक इटोरियम भेजते हैं और किसी व्यक्ति के सहभागिता के बिना टोकन तुरंत स्वचलित रूप से उसी वॉलेट में वापस भेज देते हैं।
हाल में ही वित्त मंत्रालय द्वारा वर्चुअल मुद्रा को लेकर जारी विज्ञप्ति के संदर्भ में विकास गुप्ता कहते हैं, यह एक बहुत ही पारदर्शी प्रक्रिया है, जहां प्रत्येक व्यक्ति यह देख सकता है कि इस स्टार्टअप द्वारा कितना धन बनाया गया है। उन्होंने कहा, हमें निवेशकों से अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है, जो हमारी लाइफ लाइन हैं। इसलिए हमने उन्हें ज्यादा रिवार्ड देने का फैसला किया है। हम केवल 42 प्रतिशत लाभ ही अपने पास रखेंगे और जबकि शेष 58 प्रतिशत निवेशकों को एक अनुमानित अनुपात में रिवॉर्ड स्वरूप दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here